स्टडी रूम से जुड़ी 8 बातें, दिला सकती हैं हर स्टूडेंट को सफलता

कई बच्चों का पढ़ाई में मन नहीं लगता। पढ़ाई के लिए उन्हें कितना ही समझाया जाए लेकिन कोई फायदा नहीं होता। कई बार स्टूडेंट के बहुत मेहनत करने पर भी उसे सफलता नहीं मिलती। ऐसे में बच्चे की असफलता का कारण उसका स्टडी रूम और उससे जुड़े वास्तु दोष भी हो सकते हैं। अगर बच्चे के स्टडी रूम से जुड़ी इन 8 बातों का ध्यान रखा जाए तो पढ़ाई में अच्छी सफलता मिल सकती है-

1. बच्चे जिस टेबल पर बैठकर पढ़ाई करते है, वह टेबल भी उनकी सफलता-असफलता का कारण बन सकती है। बच्चों की स्टडी टेबल हमेशा चौकोर होना चाहिए। गोल या अंडाकार टेबल पर पढाई करने से उसका लाभ नहीं मिलता है।

2. स्टडी टेबल के टॉप का रंग सफेद या क्रीम होना चाहिए। सफेद या क्रीम कलर न रख सकें तो कोई भी हल्के कलर का प्रयोग कर सकते है। स्टडी टेबल का टॉप प्लेन ग्लास भी रखा जा सकता है।  बहुत ही डार्क रंग की टेबल से बचें।

3. जब बच्चे स्टडी टेबल पर पढ़ाई कर रहें हो तो ध्यान रखें कि टेबल पर विषय से संबंधित पुस्तकें और विषय से संबंधित जरूरी सामन के अलावा और कुछ भी न हो। गैर-जरूरी सामान को टेबल पर रखकर पढ़ाई करने से पढ़ाई का फायदा नहीं मिलता।

4. टेबल पर रखें सामान को लेकर बहुत सावधान रहना जरूरी है। बंद घड़ी, टूटे या बंद पेन, धारदार चाकू या हथियार जैसी चीजें भूलकर भी टेबल पर न रखें।

5. कम्प्यूटर टेबल को पूर्व या उत्तर दिशा में रखें। ईशान कोण यानि उत्तर-पूर्व दिशा के बीच वाले हिस्से में नहीं रखना चाहिए।

6. स्टडी टेबल और कुर्सी के ऊपर सीढ़ियां या बीम- कॉलम नहीं होना चाहिए।

7. स्टडी रूम का स्वीच बोर्ड रूम में ईशान कोण में नहीं होना चाहिए। ईशान कोण को छोड़ कर किसी भी दिशा में स्वीच बोर्ड रखा जा सकता है।

8. स्टडी रूम में एक छोटा सा मंदिर जरूर होना चाहिए। स्टूडेंट को उस मंदिर में रोज सुबह-शाम कर्पूर या शुद्ध घी का दीपक लगाना चाहिए।

Share

Recent Posts