चिया बीज के फायदे, उपयोग और नुकसान – Chia Seeds Benefits, Uses and Side Effects in Hindi

0
82

साल्विया हिस्‍पैलिका (चिया) के पौधे के बीज सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माने जाते हैं। इसके बीज अंडाकार होते हैं और इन्‍हें चिया के बीज के नाम से जाना जाता है। छोटे से दिखने वाले ये चिया के बीज एनर्जी से भरपूर होते हैं। यहां तक कि इसका नाम ही प्राचीन मायन के उस शब्‍द से लिया गया है जिसका अर्थ मजबूती एवं ताकत है। Benefits of Chia Seeds in Hindi

‘छोटा पैकेट बड़ा धमाका’, यह डायलॉग चिया बीज पर बिल्कुल फिट बैठता है। साथ ही अगर चीया बीज के लिए यह कहा जाए कि ‘देखन में छोटन लगे, असर करे भरपूर’, तो गलत नहीं होगा। यह छोटा-सा दिखने वाला चीया बीज असल में गुणों का खजाना है। यह शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने के साथ-साथ कई बीमारियों के लक्षणों को कम करने में भी सक्षम है।

हां, अगर कोई गंभीर रूप से बीमार है, तो उसके लिए मेडिकल ट्रीटमेंट से बेहतर कुछ नहीं है। हम आपको चिया बीज के फायदे बता रहे हैं। साथ ही चिया बीज के नुकसान के बारे में भी बताएंगे, लेकिन पहले इस सुपरफूड के फायदे और उपयोग जान लेते हैं।

Benefits of Chia Seeds in Hindi
Benefits of Chia Seeds in Hindi

क्या है चिया बीज ?

कई लोगों को यह गलतफहमी होती है कि चीया बीज और तुलसी के बीज यानी सब्जा एक ही हैं, लेकिन यह सच नहीं है। चिया बीज को वैज्ञानिक रूप से साल्विया हर्पेनिका (Salvia hispanica) के रूप में जाना जाता है। ये बीज मुख्य रूप से मैक्सिको में पाई जाते हैं। ये बीज ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर, प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट और कैल्शियम से भरपूर होते हैं (1) (2)। यही कारण है कि चिया बीज को सुपरफूड के श्रेणी में रखा गया है।

यह भी पढ़ें : मीठा खाने से नहीं, इन 5 कारणों से हो सकती है डायबिटीज

चिया बीज के रोचक तथ्य – Chia Seeds Facts in Hindi

चिया बीज के फायदे जानने से पहले उससे जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में जान लेते हैं। इनके बारे में आपको शायद ही पता होगा।

  • चिया सीड मिंट प्रजाति का होता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि कीड़ों को पुदीना पसंद नहीं होता। इसलिए, कीटनाशकों के उपयोग के बिना ही इस पौधे को उगाया जा सकता है।
  • चिया बीज के पौधे थोड़े अलग तरह के होते हैं और इन्हें विशिष्ट रूप से बढ़ने की आवश्यकता होती है। इसलिए, इन्हें 23 डिग्री उत्तर और 23 डिग्री दक्षिण अक्षांश के बीच उगाया जाता है।
  • चिया की खोज 1990 के दशक में डॉ. वेन कोट्स ने की थी। उन्होंने अर्जेंटीना में ऐसी फसलों (cash crop) की तलाश में परियोजना का नेतृत्व किया था, जो क्षेत्र में किसानों को लाभान्वित कर सकता था।
  • चिया बीज के फूल बैंगनी और सफेद रंग के होते हैं।

यह भी पढ़ें : आ गई ‘चमत्कारी’ लाल भिंडी!, खासियत जानकर रह जाएंगे दंग

आपके लिए क्यों है जरुरी चिया बीज ?

चिया सीड में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। इसलिए, चिया बीज के जरिए इन स्वस्थ फैटी एसिड का सेवन करने का सबसे आसान तरीका है। चिया बीज के एक सर्विंग में पांच ग्राम ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। साथ ही इसमें घुलनशील फाइबर होता है। अगर आप चिया बीज को थोड़ा गीला करते हैं, तो आप उन्हें एक जेल में बदलते देखेंगे – जो घुलनशील फाइबर है।

घुलनशील फाइबर के लाभ कई हैं। यह ब्लड शुगर को सही रखता है और यह आंत में अच्छे बैक्टीरिया को पनपने में मदद करता है। अगर आपको हड्डी से जुड़ी कोई परेशानी है, तो यह आपकी हड्डियों के लिए भी लाभकारी है। यह तो बस शुरुआत है, चिया बीज के फायदों के बारे में हम आगे विस्तार से बता रहे हैं।

चिया बीज के फायदे – Benefits of Chia Seeds in Hindi

Benefits of Chia Seeds in Hindi
Benefits of Chia Seeds in Hindi

वजन कम करने के लिए :

एक अध्ययन के अनुसार, चिया बीज फैट कम करने में अहम भूमिका निभाता है और ब्लड ग्लूकोज व लिपिड प्रोफाइल में सुधार लाता है । चिया सीड में भरपूर मात्रा में प्रोटीन भी होता है, जिस कारण आपके पेट को तृप्ति का अनुभव होता है और भूख कम लगती है। ऐसे में वजन कम होने के आसार ज्यादा होते हैं।

वजन कम करने के लिए आप एक गिलास पानी में एक चम्मच चिया बीज डालकर अच्छे से मिलाएं और कुछ मिनट तक उसे घुलने दें। फिर चिया सीड के फूलने से पहले ही इस पानी का सेवन कर लें। ध्यान रहे कि वजन कम करने के लिए चिया सीड के साथ-साथ नियमित रूप से व्यायाम या फिर योग करना भी जरूरी है।

यह भी पढ़ें : ब्रेन ट्यूमर होने पर शरीर में होते हैं ये बदलाव

दिल के लिए :

चिया सीड जिसे सुपरफूड की श्रेणी में रखा गया है, उसके सेवन से दिल की बीमारी का खतरा कुछ हद तक कम हो सकता है। चिया सीड में फाइबर और ओमेगा-3 फैटी एसिड मौजूद होता है, जो दिल की बीमारी का खतरा कम करता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण दिल के दौरे और अन्य ह्रदय संबंधी परेशानियों के खतरे को कम करता है।

हड्डियों और दांत के लिए :

एक अध्ययन से पता चला है कि कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ जैसे कि चिया बीज के सेवन से शारीरिक ढांचा स्वस्थ रह सकता है। चिया बीज को शरीर में कैल्शियम की पूर्ति का अच्छा विकल्प माना गया है । चिया बीज में फास्फोरस भी होता है, जो हड्डी को मजबूत करने में मदद करता है।
चिया बीज में एंटीऑक्सीडेंट की उपस्थिति आपके दांतों को नुकसान से बचा सकती है। हड्डियों और दांतों की सेहत के लिए आप अपने प्रतिदिन के आहार में इसे शामिल कर सकते हैं।

Benefits of Chia Seeds in Hindi
Benefits of Chia Seeds in Hindi

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल के लिए :

अगर चिया बीज का सेवन किया जाए, तो उसमें मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करके, अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। साथ ही कोरोनरी हार्ट डिजीज (coronary heart disease) का खतरा कम हो सकता है। यह डिस्लिपिडेमिया (dyslipidemia) को बेहतर करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है। इसके अलावा, यह ट्राइग्लिसराइड (triglycerides) जो कि खून में एक प्रकार का फैट होता है, उसे भी कम करता है। यह अनियमित दिल की धड़कन, निम्न रक्तचाप और कई अन्य समस्याओं को कम कर सकता है।

डायबिटीज के लिए :

अगर आप डायबिटीज से बचना चाहते हैं या डायबिटीज को संतुलित रखना चाहते हैं, तो चिया बीज का सेवन करें। चिया बीज में मौजूद फाइबर और अन्य पोषक तत्व डायबिटीज के खतरे को कम करते हैं। साथ ही यह बिना किसी साइड इफेक्ट के ब्लड प्रेशर को भी कम कर सकता है।

यह भी पढ़ें :  कान पर दिखाई देने लगे बाल, तो हो जाएं सावधान

कब्ज से राहत :

कब्ज की परेशानी किसी को भी हो सकती है। इसके लिए लोग कई तरह की दवाइयां और घरेलू उपाय करते हैं। ऐसे में अगर अन्य उपायों के साथ चिया सीड का सेवन करें, तो इस परेशानी से काफी हद तक राहत मिल सकती है। चिया सीड में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, खासतौर पर अघुलनशील फाइबर। जब चिया बीज पानी में मिलते हैं, तो वो जेल में बदल जाते हैं, जिसके सेवन से कब्ज में राहत मिलती है। फाइबर पाचन शक्ति में भी सुधार लाता है।

स्तन कैंसर से बचाव के लिए :

अगर आप चिया बीज को अपनी डाइट में शामिल करती हैं, तो ब्रेस्ट कैंसर का खतरा काफी हद तक कम हो सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार, चिया बीज में अल्फा-लिनोलिक एसिड होता है, जो स्तन कैंसर को रोकने में मदद कर सकता है। यही बात ओमेगा-3 फैटी एसिड पर भी लागू होती है, जो चिया सीड में पाया जाता है।

एनर्जी बढ़ाने के लिए :

शरीर को काम करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होती है। ऐसे में आहार में सभी तरह के जरूरी पोषक तत्व लेने से शरीर की एनर्जी बनी रहती है। पोषक तत्वों के लिए लोग तरह-तरह की सब्जियां, फल और अन्य खाद्य पदार्थ का सेवन करते हैं। अगर इन्हीं के साथ चिया बीज को भी शामिल कर लिया जाए, तो बात ही कुछ और है। जैसा कि हमने ऊपर बताया है कि चिया बीज को सुपरफूड की श्रेणी में रखा गया है। चिया सीड में विटामिन-बी, जिंक, आयरन और मैग्नीशियम के साथ ही कई अन्य पोषक तत्व भी होते हैं, जो शरीर में ऊर्जा बढ़ाने में मदद करते हैं । आप इसे स्मूदी में डालकर सेवन कर अपने आपको तरोताजा महसूस कर सकते हैं।

एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण :

चिया बीज में मौजूद ओमेगा-3 एस, फाइबर और प्रोटीन इसे बेहतरीन एंटी-इंफ्लेमेटरी खाद्य पदार्थ बनाते हैं। चिया में मौजूद ये एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर के लिए लाभकारी हैं। ये शरीर को डायबिटीज, सूजन, दिल की बीमारी और अन्य कई शारीरिक परेशानियों से बचा सकते हैं। साथ ही इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण गठिया की परेशानी से भी राहत दिला सकता है।

यह भी पढ़ें : चुटकियों में इन बीमारियों को दूर करता है काला नमक

नींद की समस्या दूर करे :

शरीर में सेरोटोनिन और मेलाटोनिन दो तरह के हार्मोन होते हैं, जो नींद के लिए जरूरी हैं। ये दोनों हार्मोन ट्रिप्टोफैन (tryptophan) द्वारा निर्मित होते हैं, जो शरीर में एक एमिनो एसिड है। एक अमेरिकी अध्ययन के अनुसार, ट्रिप्टोफैन का उपयोग नींद की समस्याओं के इलाज के लिए किया जा सकता है। वहीं, चिया बीज में ट्रिप्टोफैन होता है । इसके सेवन से अनिद्रा की परेशानी काफी हद तक दूर हो सकती है।

प्रोटीन से भरपूर चिया सीड :

यह तो सभी को पता होगा कि अन्य पोषक तत्वों की तरह प्रोटीन भी हमारे शरीर के लिए जरूरी है। यह हड्डियों, मांसपेशियों व इम्युनिटी आदि के लिए जरूरी है। इसलिए, हर रोज अपनी डाइट में प्रोटीन शामिल करें। चिया बीज प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है और अगर आप इसे अपनी डाइट में शामिल करेंगे, तो यह आपके लिए फायदेमंद होगा।

गर्भावस्था में चिया सीड :

अन्य लोगों की तुलना में गर्भवती महिला को ज्यादा पोषण इसलिए चाहिए होता है, क्योंकि उसके गर्भ में पल रहे शिशु को पोषण चाहिए होता है। शिशु के अच्छे विकास के लिए गर्भवती महिला को प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और अन्य पोषक तत्व चाहिए होते हैं और ये सब किसी एक खाद्य पदार्थ में मिलना मुश्किल हो सकता है। ऐसे में सुपरफूड के तौर पर जाना जाने वाला चिया बीज अच्छा ऑप्शन है। गर्भावस्था में चिया सीड का सेवन फायदेमंद हो सकता है। चिया सीड के सेवन करने से भ्रूण के रेटिना और मस्तिष्क का विकास होता है ।

त्वचा के लिए चिया बीज :

त्वचा को सही रखने के लिए सिर्फ क्रीम, लोशन और घरेलू उपाय ही नहीं, बल्कि सही खान-पान भी जरूरी है। चिया बीज में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड त्वचा के रूखेपन और सूजन को कम कर सकता है। एक और अध्ययन के अनुसार, ओमेगा-3 एस यूवी किरण से त्वचा की रक्षा करने में मदद करता है। चिया बीज के सेवन से त्वचा हाइड्रेट भी रहती है।

यह भी पढ़ें : पेट में कीड़े होने के लक्षण और इलाज के आसान घरेलू नुस्खे

चिया बीज का सेवन कैसे करें – How to Use Chia Seeds in Hindi

अब हम बता रहे हैं कि चिया बीज कैसे खाएं? चिया बीज का सेवन आप तीन तरीके से कर सकते हैं।

पानी में भिगोकर :

आप रातभर के लिए चिया बीज को पानी में भिगोकर रखें। रातभर पानी में भीगे चिया बीज चिया जेल में बदल जाएंगे, जिसे आप अपनी स्मूदी या प्रोटीन शेक में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। यह चिपचिपा प्रभाव पैदा करता है और पाचन में सहायता करता है। भीगे हुए चिया बीज भी आपके शरीर द्वारा आसानी से अवशोषित कर लिए जाते हैं।

चिया सीड का पाउडर :

आप चिया बीज का पाउडर बनाकर भी उसका सेवन कर सकते हैं। आप इसे कॉफी ग्राइंडर में आसानी से पीस सकते हैं। पीसने के बाद इसका पाउडर थोड़ा चिपचिपा लग सकता है और आपके दांतों पर चिपक सकता है, लेकिन इससे आपको इसमें मौजूद सारे पोषक तत्व मिलेंगे।

यह भी पढ़ें : नाखून से जानिए सेहत का हाल, बदलते रंग को न करें नज़रअंदाज़

दही के साथ चिया बीज

नाश्ते में चिया सीड को दही में मिलाकर खाना इसके सेवन का सबसे आसान तरीका है। आप इस बीज को अपनी स्मूदी में मिलाकर भी खा सकते हैं। आप अन्य खाद्य पदार्थों में भी चिया बीज को छिड़ककर खा सकते हैं। आप चिया बीज को सूप या सॉस में मिलाकर सेवन कर सकते हैं। यहां तक कि इसे दलिये में भी मिलाया जा सकता है।

चिया बीज के नुकसान – Side Effects of Chia Seeds in Hindi

बेशक, चिया बीज को सुपरफूड की श्रेणी में रखा गया है, लेकिन चिया बीज के नुकसान भी हैं। हालांकि, चिया बीज के नुकसान कम हैं, लेकिन सावधानी बरतने के लिए इस बारे में जान लेना जरूरी है।

Benefits of Chia Seeds in Hindi
  • चिया बीज में अधिक मात्रा में फाइबर होता है, जिस कारण इससे पेट की समस्या जैसे – कब्ज, पेट में दर्द या पेट फूलने जैसी परेशानी हो सकती है। इसलिए, पहले आप इसका सेवन कम मात्रा में करके देखें। अगर सब सही रहे, तो आप इसका नियमित या हर दूसरे दिन सेवन करें।
  • चिया बीज में प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो खून को पतला करता है। अगर कोई पहले से ही खून पतला करने की दवा ले रहा है, तो इसके सेवन से बचें। अगर किसी ने कोई सर्जरी करवाई है, तो भी इसके सेवन से बचे, क्योंकि सर्जरी कराने के बाद इसके सेवन से अधिक रक्तस्त्राव हो सकता है।

अगर कोई संवेनदशील है और उसे जल्दी नई चीजों से एलर्जी होती है, तो पहली बार चिया बीज का सेवन करने से पहले डॉक्टर या विशेषज्ञों की सलाह लें। चीया बीज से एलर्जी के रूप में खुजली, उल्टी व दस्त आदि समस्याएं हो सकती हैं। हो सकता है किसी को यह सूट करे या किसी को सूट न करे, ऐसे में आप सावधानी के लिए विशेषज्ञ की राय जरूर लें।

यह भी पढ़ें : पीरियड्स के दिनों में धोती है बाल तो जान लें नुकसान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here