वजन कम करने के अलावा व्यायाम के लाभ

अक्सर लोग वजन कम करने के लिए ही व्यायाम की मदद लेते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं व्यायाम ना सिर्फ आपकी शारीरिक सेहत बनाता है बल्कि पर्सनैलिटी में भी सुधार करता है जानिए कैसे।

Benefits of Work Out Except Weight Loss

सिर्फ वजन नहीं घटाता व्यायाम

व्यायाम हमेशा वजन घटाने के लिए ही नहीं किया जाता है। यह आपको शारिरीक रुप से फिट रखने के साथ ही मानसिक सेहत भी देता है। हर रोज वर्कआउट, योगा और ध्यान के जरिए आप अपनी निर्णय लेने की क्षमता, स्मरण शक्ति और आत्मविश्वास आदि को बढ़ा सकते हैं। जानिए वजन घटाने के अलावा व्यायाम के अन्य लाभों के बारे में।

निर्णय लेने की क्षमता बढ़ती है

व्यायाम मस्तिष्क की सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। इससे जीवन भर मस्तिष्क की सेहत और संज्ञानात्मक क्षमता बरकरार रखी जा सकती है। इलिनोइस विश्वविद्यालय में हुए एक शोध में पता चला है कि व्यायाम से मस्तिष्क में नई कोशिकाएं और धमनी तैयार होती है और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत भी होती है जिससे निर्णय लेने की क्षमता बढ़ती है।

आत्मविश्वास बढ़ाए

हर रोज व्यायम और योगा करने से शारीरिक और मानसिक मजबूती तो मिलती ही है साथ ही यह आपके आत्मविश्वास को भी बढ़ाता है। योगा और ध्यान के दौरान ब्रीदिंग तकनीक के जरिए आप खुद के अंदर विश्वास पैदा कर सकते हैं।

स्मरण शक्ति बढ़ती है

नियमित व्यायाम से मस्तिष्क में रसायनों की मात्रा बढ़ती है जिससे नई कोशिकाओं का निर्माण होता है और मस्तिष्क कोशिकाएं आपस में जुड़कर हमें नई चीजों को सीखने-समझने में सहायता प्रदान करती हैं। टेनिस और बास्केट-बॉल जैसे जटिल खेलों को अपने व्यायाम में शामिल करके आप सीखने और ध्यान केन्द्रित करने की क्षमताओं को विकास कर सकते हैं।

ऊर्जा का संचार होना

नियमित व्यायाम से आपकी मांसपेशियां मजबूत होती हैं, ऊर्जा का संचार होता है। व्यायाम से हमारे ऊतकों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन मिलती है और ऊर्जा प्रणाली कारगर रूप में कार्य करती है।

मूड सुधारें

अगर आप मानसिक रूप से उच्चीकृत होना चाहते हैं तो अपने प्रिय भोजन पर भरोसा न करके आपको जिम की तरफ बढ़कर व्यायाम करना चाहिये। व्यायाम आपके मस्तिष्क के रसायनों को उत्तेजित कर आपका मूड ठीक करता है।

सहनशक्ति बढ़ती है

व्यायाम से पसीना होता है और थकावट आती है लेकिन इससे सहनशक्ति में वृद्धि और मांसपेशियों में थकावट की कमी जैसे दूरगामी परिणाम प्राप्त होते हैं। जिन लोगों में सहनशीलता कम होती है उन्हें व्यायाम जरूर करना चाहिए। इससे आप अपने निजी जीवन में काफी बेहतर कर पाएंगे।

चिंता दूर करे

जो लोग हर रोज व्यायाम या योग करते हैं वो उन लोगों की अपेक्षा तनाव मुक्त रहते हैं जो व्यायाम नहीं करतेे हैं। व्यायाम से एंडोर्फिन्स में वृद्धि होती है। यह रसायन दिमाग में उल्लास का संचार करता है। शारीरिक तनाव स्वत: कम होता है और भावी तनाव से भी जूझने में मदद करता है।

एकाग्रता बढ़ाए

व्यायाम दिमाग और शारीरिक तालमेल को बेहतर बनाकर एकाग्रता को वापस लाता है। किसी काम पर ध्यान लगाने के लिए आप क्वाइन ट्रिक और चेयर ट्रिक जैसे कई व्यायाम कर सकते हैं।

Share

Recent Posts