घर में आएगी गरीबी अगर आप करेंगे पूजा से जुड़ी ये गलतियां.

अपने घर में हर कोई पूजा करता है खासकर तब जब त्यौहार आते हैं. लोग बड़ी धूम धाम के साथ भगवान को सजाने संवारने का काम करते हैं. उनके लिए मिठाई, नए वस्त्र नए कपड़ो और माता के लिए चुनरी लेकर आते हैं. लेकिन लोग अक्सर पूजा करने के बाद ऐसी छोटी गलतियां कर जाते हैं जिसकी वजह से भगवान उनसे नाराज हो सकते हैं, साथ ही उनके घर में गरीबी का भी वास हो सकता है.

सूखे हार या फूल

अक्सर लोग भगवान पर फूलों की माला चढ़ाकर उसे भूल जाते हैं, जिस वजह से फूल और हार सूख जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं सूखे हार और फूल घर में रखना अशुभ माना गया है. इसलिए पूजा खत्म होने के अगले दिन फूलों को भगवान के स्थान से हटा दें.

सूखे हार या फूल, सूखा तुलसी का पौधा

सूखा तुलसी का पौधा

घर में कई लोग तुलसी लगाते हैं, लेकिन कई बार ये पौधा सूख जाता है. लोग इसे घर में लगाना शुभ मानते हैं, इसलिए वो सूखे पौधे की भी पूजा करते हैं, लेकिन ऐसा करना गलत है. अगर आपका तुलसी का पौधा किसी कारण की वजह से सूख गया है तो उसे किसी तालाब में या नदी में विसर्जित कर दें.

टूटा हुआ दीया

दीवाली में लोग दीया खरीदते हैं, लेकिन अगर उसमें से एक भी दिया टूटा हुआ निकल जाए, तो उसे प्रयोग में ना लाएं. ऐसा करना अशुभ माना जाता है. साथ ही पूजा में हमेशा अखंडित दीपक का ही उपयोग करना चाहिए. टूटे हुए दीए के साथ कभी भी पूजा ना करें.

टूटी हुई मूर्तियां

घर में या फिर मंदिर में किसी भी तरह की टूटी हुई मूर्तियां ना रखें. अगर आपके घर में मिट्टी या फिर धातु की कोई मूर्ति टूट गई हो, तो उसे तुंरत किसी नदी में विसर्जित कर दें या फिर किसी पीपल के पेड़ के नीचें रख दें.

शास्त्रों के अनुसार पूजा-पाठ के कुछ ऐसे नियम है, जिसके साथ चलने की बात कही गई है. ऐसे नियम किसी के द्वारा थोपी हुई चीज नहीं है. बल्कि स्वविवेक से करने की चीज हैं. साथ ही ऐसे नियम का पालन करने से घर-परिवार में खुशहाली आती है.

टूटा हुआ दिया और टूटी हुई मूर्तियां

शास्त्रीय नियम के अनुसार पूजा से जुड़ी कुछ ऐसी चीजें हैं जिसे पूजा के वक्त जमीन पर नहीं रखना चाहिए. मान्यता के अनुसार इन 5 चीजों को पूजा के समय खाली जमीन पर रखना घर-परिवार में सुख-शांति का वास नहीं हो सकता. साथ ही आर्थिक नुकसान भी हो सकता है.

शालीग्राम:-
शालीग्राम को भगवान विष्णु का प्रतीक माना गया है. अमूमन इसे तुलसी के साथ रखा जाता है. अगर आपके घर में शालीग्राम पत्थर है तो कभी भी इसे खाली जमीन पर ना रखें. भगवान विष्णु का प्रतीक रूप होने के कारण ऐसा करना एक प्रकार से बिना आसन के भगवान को स्थापित करने जैसा है जो उनका अपमान माना जाता है. यह आपका सौभाग्य क्षय करता है और दुर्भाग्य को प्रबल बनाता है.

शिवलिंग:-
कई परिवारों में पूजा के लिए छोटा शिवलिंग रखा जाता है और इसकी पूजा भी की जाती है. लेकिन सफाई के समय इसे जमीन पर रखना आपको नुकसान पहुंचा सकती है. अयसा माना जाता है कि भगवान शिव के इस प्रतीक रूप को ब्रह्मांड ऊर्जा से जुड़ा है. खाली जमीन पर रखना इसकी ऊर्जा का ह्रास करता है या नकारात्मक ऊर्जाओं से जोड़ता है जो आगे चलकर आपको नकारात्मक प्रभावित करता है तथा दुर्भाग्य लाता है.

जनेऊ:-
चाहे आप इसे पूजा में उपयोग करें या सामान्य जीवन में, जनेऊ को पवित्र धागा माना जाने के कारण कभी भी इसे जमीन पर नहीं रखना चाहिए. ऐसा करना आपके जीवन में कलह लाता और सुखों की कमी करता है. धीरे-धीरे यह आपको विपन्नता की ओर भी धकेलता है.

दीया:-
प्रायः हर घर में पूजा की जाती है और पूजा के दौरान दीया भी अवश्य जलाया जाता है. कई घरों में मिट्टी का दीपक प्रयोग होता है तो कुछ लोग पीतल के दीपक भी प्रयोग करते हैं. चाहे आप दीपक किसी भी प्रकार का लें लेकिन इसे जमीन पर रखने से बचें. दीए को खाली जमीन पर रखना आर्थिक नुकसान पहुंचा सकता है.

शंख:-
शास्त्रों में शंख को बेहद पवित्र वास्तु माना गया है. पवित्र वस्तुओं को खाली जमीन पर रखने से मना किया जाता है. शंख भी ऐसी ही वस्तुओं में आता है. इसलिए जहां भी इसे रखें, सफेद, लाल या पीले वस्त्र के ऊपर ही रखें.

Share

Recent Posts