क्या आपका ड्राइविंग लाइसेंस DL भी सन् 2000 के बाद बना है, तो अभी पढ़ें ये खबर वरना बाद में बहुत पछताएंगे…

0
19

दोस्तों अगर आपके पास सन 2000 के बाद बना DL है, तो अभी पढ़ें ये खबर वरना बाद में बहुत पछताएंगे… आजकल बहुत से लोग फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस (Fake DL) बनवा कर इसका उपयोग भी कर रहे है! लेकिन सरकार भी ऐसे मामलो में अब बहुत शख्त हो गयी है! आपको बता दे फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस को खत्म करने के लिए सरकार उसे आधार कार्ड से लिंक कराने का कदम उठाने जा रही है !

अब DL को भी आधार कार्ड से जोड़ना अनिवार्य होने जा रहा है! केंद्रीय कानून मंत्री R.S प्रसाद ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा! कि सरकार जल्द ही DL को आधार कार्ड के साथ लिंक करना अनिवार्य करने जा रही है! उन्होंने कहा कि वह इस बारे में नितिन गडकरी से भी चर्चा करने वाले हैं!

इसके लिए उसने SC में जानकारी देते हुए कहा कि अब सभी वाहन चालकों को अपना ड्राइविंग लाइसेंस, आधार से लिंक कराना बेहद जरूरी होगा! सरकार ने इस विषय पर बहुत भरी कदम उठाया है! इसके लिए सरकार एक सॉफ्टवेयर भी बना रही है! खबरों के मुताबिक ये कहा जा रहा है! की वर्ष 2000 के बाद बने सभी स्मार्ट लाइसेंसों को आधार कार्ड से जोड़ा जाएगा!

यदि आपने इसे लिंक नहीं कराया तो आपका DL रद्द किया जा सकता है! इससे पहले आधार से बैंक अकाउंट, मोबाइल नंबर, PAN कार्ड, वोटर ID कार्ड, राशन कार्ड, LPG कनेक्शन कार्ड या अन्य डॉक्युमेंट्स को भी लिंक कराया जा चुका है! लेकिन अब सरकार इसके बारे में ठोस कदम उठाने जा रही है !

जानकारी के मुताबिक सरकार एक ऐसा सॉफ्टवेयर (Software) बना रही है! जिससे ड्राइविंग लाइसेंस को आसानी से आधार से लिंक कर दिया जाये! जिससे Fake लाइसेंस जो बने है वी रद्द हो सके और इससे जिन लोगों के पास फर्जी लाइसेंस है उनकी डिटेल भी सामने आ सके! इसके बाद ऐसे लाइसेंस ऑटोमैटिक खत्म हो जाएंगे! सड़क सुरक्षा पर कोर्ट की बनाई एक कमेटी ने जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्‍ता की बेंच को जानकारी देते हुए बताया! कि उन्‍होंने रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे मिनिस्‍ट्री (Transport Ministry) से मुलाकात करके फर्जी लाइसेंस सहित सड़क सुरक्षा को लेकर कई मुद्दों पर बातचीत की! इसके बारे में बहुत कड़ी कार्यवाही की जा रही है!

हमारी भारत सरकार NIC के साथ मिलकर एक सॉफ्टवेयर सार्थी-4 (Sarthi-4) बना रही है, जिससे DL को आधार से लिंक किया जा सकेगा! इस बारे में सरकार का कहना है! कि एक बार जब ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से कर दिया जाएगा! तो सड़कों पर होने वाले क्राइम भी बहुत हद तक कम हो सकेंगे! इसके लिए इस सॉफ्टवेयर से सभी राज्यों को धीरे-धीरे जोड़ा जाएगा!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here