श्रीकृष्ण के इन 5 मित्रों में छुपे हैं जिंदगी की सबसे बड़े सत्य

0
1463

आधुनिक युग से हटकर महाभारत के उस पात्र को याद कीजिए, जिसने युद्ध में हिस्सा ना लेकर भी सत्य को विजय कर दिया था. भगवान श्रीकृष्ण के जीवन से दोस्ती के एक नए मायने मिलते हैं जिसे समझकर आप दोस्ती को समझ सकते हैं.

1. अर्जुन

अर्जुन और श्रीकृष्ण से जुड़े कई प्रसंग महाभारत में मिलते हैं. कृष्ण कुंती को बुआ कहते थे लेकिन उन्होंने हमेशा ही अर्जुन को मित्र माना. कुरुक्षेत्र की रणभूमि पर श्रीकृष्ण अर्जुन के सारथी बनकर उन्हें सच्चाई पर चलते हुए न्याययुद्ध का पाठ पढ़ाया जिसकी वजह से अर्जुन में युद्ध करने का साहस आया. उन्होंने हर विपदा में अर्जुन का साथ दिया यानि अपने मित्र को प्रोत्साहित करना चाहिए.

Five Friends of Lord Krishna
Arjun

12. द्रौपदी

महाभारत में द्रौपदी के चीरहरण के निंदनीय प्रसंग के बारे में तो सभी जानते होंगे. इस दौरान जब सभी महायोद्धा मौन हो गए थे तो श्रीकृष्ण ने वहां उपस्थित न होते हुए भी द्रौपदी का चीरहरण होने से बचा लिया. इस घटना से हम सीख सकते हैं कि विपदा में कभी भी किसी तरह का बहाना न बनाते हुए अपने मित्र की सहायता करनी चाहिए.

Back

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here