हनुमानजी का एक ऐसा दरबार जहां पैर रखते ही मिट जाते है सारे दुःख दर्द

भारत देश में रहस्य भरे पड़े हैं। कोई भी क्षेत्र इन रहस्यों से अछूता नहीं है। कुछ तो ऐसे हैं जिन पर सहज विश्वास कर पाना संभव नहीं हैं, लेकिन जब पूरी चीजें आंखों के सामने हों तो अविश्वास के लिए जगह नहीं बचती…। यही विश्वास रोजाना हजारों लोगों को कटनी, रीठी के समीपी गांव मोहास स्थित हनुमान मंदिर तक ले जाता है। यहां लोग दर्द से कराहते हुए आते हैं और राहत भरी मुस्कुराहट लेकर जाते हैं। इस मंदिर में शरीर की टूटी हुई हड्डियां अपने आप जुड़ जाती हैं। आईए आपको मोहास के हनुमान मंदिर की आश्चर्य भरी विशेषताओं से अवगत कराते हैं… Hanumanji Temple Mohash Katni

यह भी पढ़ें : क्या आप जानते हैं शनिदेव को तिल और तेल क्यों चढ़ाया जाता है?

मध्यप्रदेश के कटनी जिले से लगभग 35 किमी दूर मोहास गांव में हनुमान जी का प्रसिद्ध मंदिर हैं। इस मंदिर का चमत्कार जान कर आप आश्चर्य चकित हो जाएंगे । क्योंकि यह चमत्कार बहुत ही अद्भुत व अकल्पनिय हैं, जी हां यहां किसी अस्पताल से ज्यादा भीड़ हड्डी रोग से पीड़ित लोगों की लगती है। वैसे तो यहां से कोई भी हनुमान भक्त खाली हाथ नहीं लौटता लेकिन यहां विशेषतौर पर यहां हड्डी रोग से ग्रस्त लोग आते है और खुशी-खुशी ठीक होकर जाते है। कई मरीज तो यहां स्ट्रेचर पर आते हैं, तो किसी को एम्बुलेंस में लाया जाता है। लेकिन यहां हड्डी रोग से परेशान लोगों का इलाज भगवान हनुमान की दिव्य शक्ति से स्वयं हो जाता है।

Hanumanji Temple Mohash Katni

दो दिन लगता है मेला

कहा जाता है कि जो भी इस मंदिर में दर्शन करता है उसकी टूटी हुई हड्डियां अपने आप जुड़ जाती हैं। वैसे तो इस मंदिर में रोज ही औषधि दी जाती है, पर मंगलवार तथा शनिवार की औषधि का प्रभाव ज्यादा होता है, इसलिए इन दो दिनों में ज्यादा मरीजों की भीड़ आती है। रहवासियों का कहना है की यहां रोज लाखों की संख्या में मरीज़ आते हैं लेकिन कोई भी निराश होकर नहीं जाता। यहां मंदिर के बाहर बनी दुकानों पर हड्डियों के दर्द आदि को ठीक करने के लिए तेल भी बिकते हैं।

यह भी पढ़ें : तो इसलिए भगवान जगन्‍नाथ 15 दिन के लिए पड़ जाते है बीमार

पीड़ितों को खिलाते हैं औषधि

यह हनुमान जी का मंदिर हड्डी जोड़ने वाले हनुमान जी के नाम से भी जाना जाता है। यहां मंदिर परिसर में प्रवेश करते ही पीड़ित व्यक्ति को आंख बंद करके राम-नाम का जाप करने की सलाह देते हैं। पीड़ित व्यक्ति जैसे ही आंख बंद कर जाप करने में मग्न रहता है तभी वहां के साधू व संत अपने सहयोगियों के साथ सभी को कोई औषधि खिलाते हैं। जो की कई तरह की जड़ी-बूटियों से मिलकर बनती है अत: यह प्राकृतिक औषधि होती है और पीड़ित को इसे चबाकर खाना होता है। वहीं औषधि खाने के बाद उन लोगों को घर जाने के लिए बोल दिया जाता है। उसके बाद औषधि के प्रभाव और हनुमान जी के आशीर्वाद से हड्डियां जुड़ जाती हैं।

नि: शुल्क मिलती है औषधि

स्थानीय जनों ने बताया कि मंदिर में इलाज व औषधि के लिए कोई शुल्क निर्धारित नहीं है। व्यक्ति की जो श्रद्धा बनती है, वह उसे दान पेटी में अर्पित कर देता है। बाहर दुकान में केवल तेल मिलता है। मालिश का यह तेल भी 50 या सौ रुपए में उपलब्ध हो जाता है। कटनी निवासी राजेश पाण्डेय ने बताया कि कुछ दिनों पहले उनका पैर फ्रैक्चर हो गया था। वह बाबा के दरबार पहुंचे। बगैर किसी डॉक्टरी उपचार के अब उनका पैर ठीक है।

Hanumanji Temple Mohash Katni

बड़वारा निवासी रामनारायण महोबिया ने बताया कि साइकल से गिरने के कारण उनका दाहिना हाथ टूट गया था, चिकित्सक ने एक्सरे के बाद हाथ में फैक्चर होने पर प्लास्टर की सलाह दी। पर उन्हें पता चला कि मोहास में दवा खाने से हड्डी जुड़ जाती है। इसलिए वे यहां मंदिर पहुंच गए। औषधि खाने के बाद अब उनका हाथ उनका पूरी तरह से ठीक है। बताया गया है कि हनुमानजी के दरबार से आज तक कोई भी निराश होकर नहीं लौटा है।

दोस्तों, यह जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट बॉक्स में बताइये जरूर ! और इस मंदिर के बारे में आपके पास भी कोई जानकरी है जो आप शेयर करना चाहते हैं तो भी कमेंट करें

Share

Recent Posts

कार के अन्दर भूल गये है चाबी, तो इन तरीकों से खोल सकते हैं दरवाजा

अगर कार की चाबी कहीं गुम हो गई है और आपके कार का दरवाजा लॉक हो गया है, या फिर… Read More

October 8, 2019

यदि आप भी प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र खोल कर करना चाहते हैं कमाई, तो करें यह काम

यदि आपको भी लोगों की मदद के साथ-साथ खुद का बिजनेस भी करना है तो यह आपके लिए एक अच्‍छा… Read More

October 6, 2019

विष्णुपुराण के अनुसार घर आए मेहमान से भूल कर भी नहीं पूछनी चाहिए ये 3 बातें

अगर हम प्राचीन समय की बात करे, तो भारत में प्राचीनकाल से ही नियमो और रीती रिवाजो का पालन किया… Read More

October 2, 2019

IRCTC का ऐलान, अगर लेट हुई ये ट्रेन तो यात्रियों को मिलेंगे पैसे वापस

क्या आपने कभी सुना है कि ट्रेन लेट होने पर आपको आपका पैसा वापस मिल सकता है. नहीं सुना होगा..… Read More

October 2, 2019

28 सितंबर को सर्वपितृ अमावस्या, ऐसे करें पितरों का श्राद्ध

श्राद्ध की सभी तिथियों में अमावस्या को पड़ने वाली श्राद्ध का तिथि का विशेष महत्व होता है। आश्विन माह की… Read More

September 21, 2019

मोर पंख को फोटो-फ्रेम में लगा देने से मिलता है समस्याओं से छुटकारा

मोरपंख के माध्यम से हम जिन्दगी की हर परेशानियों को सुलझाने में काफी मदद करेंगे. हिन्दू धर्म में मोर पंख… Read More

August 20, 2019