इन घरेलू उपायों से अपने-आप निकल जाएगी किडनी की पथरी

0
33

हेल्लो दोस्तों जीनासीखो में हेल्थ संस्करण के इस अंक में आज हम आपको बताने वाले हैं किडनी स्टोन या पथरी के बारे में। Home Remedies For Kidney Stone

आजकल किडनी स्टोन या किडनी में पथरी होना एक आम समस्या है। गुर्दे की पथरी से बहुत से लोग पीड़ित होते हैं। किडनी की पथरी की समस्या किसी भी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकती है। यह महिला और पुरुष दोनों पर समान प्रभाव डालती है।

किडनी की पथरी अगर छोटी हो तो यह अपने आप बाहर निकल आती है लेकिन मध्यम या बड़ी आकार की पथरी होने पर इलाज की जरुरत पड़ती है। पथरी के दर्द को कम करने के लिए कई घरेलू उपचार मौजूद है।

ये भी पढ़िए : दिखें ये 7 संकेत, तो जान लें कि आपके किडनी में है स्टोन

इसके साथ ही किडनी की पथरी को कई घरेलू नुस्खे की मदद से भी तोड़ा भी जा सकता है। अगर गुर्दे की पथरी शुरूआती स्टेज में है तो पथरी के घरेलू उपायों से इसके लक्षणों को दूर किया जा सकता है।

आइये जानते हैं किन घरेलू उपायों से अपने आप निकल जाएगी किडनी की पथरी।

गुर्दे की पथरी (किडनी स्टोन) मिनरल्स और नमक से बनी एक ठोस जमावट होती है। उनका माप रेत के दाने जितना छोटा से लेकर गोल्फ की गेंद जितना बड़ा हो सकता है। वे आपके गुर्दे में रह सकती हैं या मूत्र पथ के माध्यम से आपके शरीर से बाहर निकल सकती हैं।

मूत्र पथ में गुर्दे, मूत्रवाहिनी, मूत्राशय, और मूत्रमार्ग होते हैं। किडनी स्टोन को सबसे दर्दनाक चिकित्सक अवस्था में से एक माना जाता है।

Home Remedies For Kidney Stone
Home Remedies For Kidney Stone

पथरी की समस्या की स्थिति :

ऐसा माना जाता है कि भारत की कुल आबादी में से 12% आबादी को मूत्रपथ की पथरी होने की संभावना है जिनमें से 50% आबादी को गुर्दे की क्षति हो सकती है।

इसके अलावा, उत्तर भारत की लगभग 15% जनसंख्या गुर्दे की पथरी की समस्या से ग्रस्त है लेकिन दक्षिण भारत में इसके मामले कम हैं।

महाराष्ट्र, गुजरात, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान के हिस्सों में गुर्दे की पथरी की समस्या इतनी प्रचलित है कि परिवार के अधिकांश सदस्य अपने जीवनकाल के किसी समय में इससे पीड़ित ज़रूर होते हैं।

भारत में पथरी की समस्याओं का प्रसार 11% है और महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में यह समस्या 3 गुना अधिक है।

यह भी पढ़े : हार्ट अटैक से एक महीने पहले आपकी बॉडी देती है वॉर्निंग

किडनी स्टोन क्या है? –

गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन क्रिस्टलयुक्त खनिज और लवण होते हैं जो डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) के कारण बनते हैं।

गुर्दे में पथरी तब बनती है जब मिनरल और साल्ट जैसे कैल्सियम ऑक्जलैट किडनी में क्रिस्टलीकृत होकर जमने लगते हैं और कठोर होकर जमा हो जाते हैं।

हालांकि पथरी किडनी में ही बनती है लेकिन यह यूरिनरी ट्रैक्ट को भी प्रभावित करती है। किडनी स्टोन को कैल्कुली (calculi) या यूरोलिथियासिस भी कहते हैं।

किडनी की पथरी के कारण –

गुर्दे में पथरी या किडनी स्टोन आमतौर पर एक नहीं बल्कि कई कारणों से होती है। गुर्दे की पथरी तब होती है जब यूरिन में कैल्शियम, ऑक्जलेट और यूरिक एसिड जैसे पदार्थ जमा होकर अधिक मात्रा में क्रिस्टल का निर्माण करते हैं और यूरिन के फ्लुइड को पतला कर देते हैं।

इस दौरान यूरिन में क्रिस्टल को एक दूसरे से जोड़ने से रोकने वाले पदार्थों की कमी हो जाती है जिससे किडनी में पथरी बन जाती है।

इसके अलावा यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन, रिनल ट्यूबुलर एसिडोसिस, हाइपरथायरॉयडिज्म सहित कई बीमारियों के कारण किडनी की पथरी हो सकती है।

ये भी पढ़िए : अगर आपके भी पेशाब में आता है झाग, तो हो जाएं सावधान नहीं तो…

किडनी की पथरी के लक्षण –

आमतौर पर किडनी स्टोन के लक्षण तब तक पता नहीं चल पाते हैं जब तक पथरी किडनी के चारों ओर घूमने नहीं लगती या किडनी और ब्लैडर के बीच स्थित मूत्रवाहिनी में नहीं आ जाती है। उसके बाद किडनी की पथरी के ये लक्षण सामने आते हैं:

  • पसलियों के नीचे और पीठ में तेज दर्द
  • पेशाब के दौरान दर्द
  • गुलाबी, लाल या भूरे रंग की यूरिन
  • पेशाब से तीक्ष्ण दुर्गंध आना
  • मितली और उल्टी होना
  • बार-बार पेशाब लगना
  • सामान्य से अधिक पेशाब होना
  • इंफेक्शन
  • ठंड लगना और बुखार
  • कम मात्रा में पेशाब होना
  • इसके साथ ही किडनी स्टोन के कारण शरीर के विभिन्न हिस्सों में हल्का और गंभीर दर्द भी होता रहता है।

किडनी स्टोन का घरेलू इलाज –

गुर्दे की पथरी एक आम समस्या है जिसे घरेलू उपचार से भी काफी हद तक ठीक किया जा सकता है।

घर में ऐसी कई चीजें मौजूद होती हैं जिनमें भरपूर मात्रा में औषधीय गुण पाये जाते हैं और ये वस्तुएं किडनी की पथरी को बढ़ने से रोकने के साथ ही दर्द में भी राहत देती हैं।

आइये जाने किडनी की पथरी को ठीक करने के घरेलू नुस्खे।

ये भी पढ़िए : अगर पेशाब के समय होती है जलन महसूस, तो अपनाएं ये घरेलु नुस्खे

1. पानी :

किडनी की पथरी का सबसे आसान घरेलू उपचार है पानी। किडनी स्टोन होने पर रोजाना सामान्य रुप से 8 गिलास पानी पीने की बजाय 12 गिलास पानी पीने से पथरी का ग्रोथ रुक जाता है।

वास्तव में गुर्दे की पथरी का एक बड़ा कारण डिहाइड्रेशन (पानी की कमी) है। शरीर में पानी की कमी होने पर यह बीमारी उत्पन्न होती है।

पानी किसी भी बीमारी को दूर करने में कितना मददगार साबित हो सकता है, इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं की केवल पानी पीने से ही पथरी को बाहर किया जा सकता है।

इसलिए अधिक से अधिक पानी पीने के साथ ही यूरिन के रंग पर भी ध्यान देना चाहिए। आपके यूरिन का रंग लाइट और कम पीला होना चाहिए।

यदि आपका यूरिन का रंग गहरा पीला है तो इसका मतलब यह है कि आपके शरीर में पानी की कमी हो गई है।

अगर गुर्दे की पथरी का आकर छोटा है तो इसे अधिक मात्रा में पानी पीकर बाहर निकाला जा सकता है।

2. नींबू पानी :

नींबू से पथरी का इलाज किया जा सकता है। नींबू से पथरी का इलाज भी बहुत आसान है और इस घरेलू उपाय को बहुत से लोग आजमाते हैं।

नींबू में साइट्रेट नामक रसायन पाया जाता है जो गुर्दे में कैल्शियम स्टोन बनने से रोकता है। इसके साथ ही साइट्रेट किडनी की पथरी को छोटी-छोटी पथरी में ब्रेक करता है और उन्हें बढ़ने से रोकता है।

किडनी स्टोन के घरेलू इलाज के रुप में सबसे पहले एक बार सुबह खाली पेट नींबू पानी और रात के खाने के कुछ घंटे पहले नींबू पानी का सेवन करना चाहिए।

यह घरेलू उपाय करने से कई बार किडनी स्टोन को निकालने के लिए ऑपरेशन की जरुरत भी नहीं पड़ती है।

अगर आप बिना सर्जरी के किडनी स्टोन को ठीक करना चाहते हैं तो आपको यह नुस्खा रोज करना होगा।

ये भी पढ़िए : पेट में कीड़े होने का कारण,लक्षण और अचूक उपचार

3. तुलसी का रस :

पथरी तोड़ने की दवा के रुप में तुलसी के रस का इस्तेमाल भी किया जाता है। यह किडनी की पथरी निकालने का घरेलू नुस्खा माना जाता है। जिससे किडनी स्टोन से राहत पाने में मदद मिलती है।

तुलसी में एसिटिक एसिड पाया जाता है जो गुर्दे की पथरी को तोड़ता है और दर्द कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही तुलसी पोषक तत्वों से भरपूर है।

आमतौर पर तुलसी को पाचन और सूजन की समस्याओं को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होने के कारण तुलसी का रस किडनी की पथरी के घरेलू उपचार में मदद करता है।

किडनी की पथरी निकालने के लिए तुलसी की ताजी पत्तियों की चाय दिन में कई बार सेवन करें। इसके साथ ही तुलसी की पत्तियों का जूस पीने से भी गुर्दे की पथरी ठीक हो जाती है।

हालांकि छह सप्ताह से ज्यादा तुलसी के रस का सेवन नहीं करना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

4. सेब का सिरका :

सेब का सिरका में पर्याप्त मात्रा में एसिटिक एसिड पाया जाता है जो गुर्दे की पथरी को गलाने में मदद करता है।

इसके साथ ही यह पथरी के कारण होने वाले दर्द को भी कम करता है। किडनी स्टोन को गलाने के लिए एक गिलास पानी में एक चम्मच एपल साइडर विनेगर मिलाकर दिन में कई बार सेवन करें।

सेब के सिरके का इस्तेमाल सलाद में भी किया जा सकता है। हालांकि यदि आपको डायबिटीज है या आप इंसुलिन, डिगॉक्सिन या कोई डाइयूरेटिक दवा ले रहे हों तो आपको सेब के सिरके का सेवन नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : पीरियड्स के दिनों में धोती है बाल तो जान लें नुकसान

5. अजवाइन का पानी :

किडनी की पथरी के लिए अजवाइन का रस बेहद फायदेमंद है। यह विषाक्त पदार्थों को दूर करके किडनी स्टोन बनने से रोकने में मदद करती है।

अजवाइन में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो पेशाब की मात्रा को बढ़ाता है और किडनी स्टोन को पेशाब के माध्यम से बाहर निकालने में प्रभावी तरीके से कार्य करता है।

अजवाइन के रस को पानी में मिलाएं और पूरे दिन में कई पानी सेवन करें। लेकिन यदि आपको किसी तरह की ब्लीडिंग होती हो या लो ब्लड प्रेशर से पीड़ित हों एवं दवाओं का सेवन कर रहे हों तो डॉक्टर से परामर्श लेकर ही अजवाइन के रस का सेवन करना चाहिए।

Home Remedies For Kidney Stone
Home Remedies For Kidney Stone

6. अनार का जूस :

किडनी स्टोन के असहनीय दर्द के इलाज के लिए अनार का रस उपयोगी होता है। किडनी से जुड़ी सभी समस्याओं के लिए अनार के रस का इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है। यह सिस्टम से पथरी और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करता है।

अनार के रस में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है जो यूरिन के एसिडिक लेवल को कम करता है और गुर्दे की पथरी को बढ़ने से रोकता है। दिन में कई बार अनार का जूस पीने से किडनी स्टोन के असहनीय दर्द से राहत पाया जा सकता है।

ये भी पढ़िए : दिखने लगें ये लक्षण तो समझों आपका लीवर हो गया है खराब

7. राजमा का पानी

राजमा से बने पानी का उपयोग पथरी तोड़ने की आयुर्वेदिक दवा के रूप में और गुर्दे के स्वास्थ्य में सुधार के लिए किया जा सकता है।

यह किडनी में बन रहे पत्थरों को घोलने और बाहर निकालने में भी मदद करता है। बस राजमा को पानी में पकाएं और दिन भर में इसके कुछ गिलास पीना का सेवन करें।

पथरी में खाने लायक भोजन :

  1. पथरी में रेड मीट का लिमिटेड सेवन
  2. पथरी में नमक का परहेज करें
  3. पथरी में अंडे खाएं
  4. पथरी में पानी की प्रचुर मात्रा का सेवन करें
  5. पथरी में आलू का सेवन करें
  6. पथरी में पालक के सेवन से बचें
  7. पथरी के रोगी के आहार में जंक फ़ूड ना हो
  8. पथरी में सिट्रिक एसिड का सेवन करें
  9. पथरी में दूध पीना चाहिए
  10. पथरी में दही लें
  11. पथरी में चावल खाएं

यह भी पढ़ें : सिजेरियन डिलीवरी के बाद भूलकर भी न करें ये गलतियां

चिकित्सक को कब दिखाना है –

अपने चिकित्सक से मिलें यदि आप छह सप्ताह के भीतर किडनी स्टोन को मूत्र के माध्यम से बाहर करने में असमर्थ हैं या आपको कोई गंभीर लक्षणों का अनुभव होता है जिनमें शामिल हैं:

  • गंभीर दर्द
  • मूत्र में रक्त
  • बुखार
  • ठंड लगना
  • जी मिचलाना
  • उल्टी

आपका डॉक्टर यह निर्धारित करेगा कि आपको किडनी स्टोन को बाहर करने में मदद करने के लिए दवा या किसी अन्य चिकित्सा की आवश्यकता है या नहीं।

किडनी स्टोन का होना आपकी सेहत पर बुरा असर डाल सकता हैं। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि आप गुर्दे की पथरी के लक्षण को पहचान कर समय रहते ही इसके लिए इलाज तलाश लें।

अक्सर लोग किडनी स्टोन के घरेलू उपाय आजमाते हैं, जो इस्तेमाल में आसान और किडनी स्टोन को घोलकर पेशाब के माध्यम से बाहर निकालने में मददगार होते हैं।

यदि आप भी किडनी स्टोन की बीमारी से जूझ रहें है तो इस लेख में बताये गए किडनी स्टोन को निकालने के लिए घरेलू इलाज को आजमा सकते हैं।

Keywords : Home Remedies For Kidney Stone, Remove Kidney Stones Without Surgery, Kidney Stones, kidney stones treatment, kidney stones prevention, how to pass kidney stones fast, kidney stone pain, kidney stone removal, kidney stone pain relief at home

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here