जानिए कैसे पड़ा भारतीय मुद्रा का नाम ‘रुपया’ और जाने इन देशों की मुद्राओं के भी मतलब

हम सभी बचपन से भारतीय मुद्रा को रुपए के नाम से ही जानते है। लेकिन हमको शायद यह पता नहीं होगा कि, यह नाम कहाँ से आया और कैसे भारतीय मुद्रा का नाम रूपए पड़ा। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे है कि, इसका नाम रुपया कैसे पड़ा? और इसी तरह कुछ देशों में इस्तेमाल होने वाली मुद्रा के बारें में भी आज हम चर्चा करने जा रहे है जिसका शायद ही आपको पता है…

रुपया संस्कृत से निकला हुआ शब्द है जिसका शाब्दिक अर्थ चांदी होता है।

आपको बता दे कि, सिर्फ भारत ही एक ऐसा देश नहीं है जिसकी मुद्रा का नाम रुपया है इसके अलावा एशिया में कई ऐसे देश है जिनकी मुद्रा का नाम भी रुपए है। जिनके देशों के नाम भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपाल, मालदीव और इंडोनशिया है जहाँ पर उनकी मुद्रा का नाम भी रुपए है और ये सभी भारत के पडौसी देश ही है।

दीनार का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

प्राचीन समय में रोम में चांदी के सिक्कों को दिनारियस कहा जाता था और फिर वहीँ से इराक, कुवैत, लीबिया, सर्बिया, जोर्डन, अल्जीरिया और ट्यूनीशिया की मुद्राओं का नाम दीनार पड़ा। बहुत देशों की मुद्राओं के नाम सेम ही होते है। जिन्हें हम लोग शायद अभी तक जानते भी नहीं है।

रूबल का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

रूबल मुद्रा रूस और बेलारूस में इस्तेमाल की जाती है जिसका मतलब होता है चांदी का एक टुकड़ा काट देना और वह रूस की भाषा की क्रिया रूबीट से बना हुआ है। जो रूस की मुद्रा रूबल है।

रिन्ग्गिट का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

रिन्ग्गिट मुद्रा का प्रयोग मलेशिया में इस्तेमाल किया जाता है और इसका मतलब होता है नुकीला और यह शब्द मलय भाषा से लिया गया एक शब्द है। इस मुद्रा का नाम सिर्फ मलेशिया में ही इस्तेमाल किया जाता है।

क्राउन का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

क्राउन का लैटिन अर्थ होता है कोरोना, जिसका शाब्दिक अर्थ होता है क्राउन या मुकुट और यह आईलैंड, स्वीडन, नोर्वे और चेक रिपब्लिक देशों में इस्तेमाल की जाती है।

जलोटी का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

पोलैंड में जलोटी मुद्रा का इस्तेमाल किया जाता है और इसका मतलब गोल्डन होता है। इसके अलावा येन मुद्रा जापान में इस्तेमाल की जाती है और येन का मतलब होता है गोलाकार सिक्का, और यह एक चीनी लेटर है।

रियाल का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

रियाल के बारें में भारतीय अच्छी तरह से जानते है क्योंकि हमारे कई भारतीय भाई गल्फ कंट्री में काम करते है जहाँ की मुद्रा का नाम रियाल है। रियाल मुद्रा का इस्तेमाल ओमान, क़तर, यमन और सऊदी अरब जैसे देश करते है। हालाँकि, यहाँ पर ज्यादातर एक जैसी ही भाषा अरबी का बोलने में इस्तेमाल किया जाता है। रियाल का लैटिन शब्द होता है रेगलिस और जिसका मतलब रॉयल होता है।

डॉलर का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

डॉलर मुद्रा के बारें में कौन नहीं जानता है पूरी दुनिया में डॉलर बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है और हर कोई की तमन्ना रहती है की वह डॉलर में पैसे कमाए। लेकिन आज हम आपको बताते है कि, यह कहाँ प्रयोग किया जाता है और इसका मतलब क्या होता है? यूरोप देशों में इस्तेमाल की जाने वाली चांदी के सिक्कों को पहले थोलर कहा जाता था, और डॉलर शब्द भी थोलर से लिया गया है। और डॉलर मुद्रा का प्रयोग न्यूज़ीलैंड, अमेरिका, ताईवान, सिंगापूर, ब्रुनेई, बेलीज, हांगकांग, जमैका, नामीबिया, सूरीनाम और ऑस्टेलिया जैसे देशों में इस मुद्रा का प्रयोग किया जाता है।

पाउंड का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

पाउंड के बारें में शायद आप सभी जानते भी होंगे क्योंकि, यह इंग्लिश मुद्रा का नाम है जो ब्रिटेन में इस्तेमाल की जाती है। आपको बता दे कि, इसके अलावा इस मुद्रा का प्रयोग इजिप्ट सीरिया, लेबनान और सूडान जैसे देशों में भी वहां की मुद्रा का नाम पाउंड है और इसका लैटिन शब्द होता है पाउंडस जिसका मतलब वेट होता है।

पेसो का नाम कहाँ से पड़ा और यह किन देशों में इस्तेमाल होती है…

पेसो मुद्रा का प्रयोग बहुत से देशों में इस्तेमाल किया जाता है और यह अर्जेंटीना, चीली, मेक्सिको, क्यूबा, फिलिपीन्स, कोलंबिया, उरुग्वे और डॉमिनिका रिपब्लिक जैसे देशों में इसका प्रयोग किया जाता है। इसका मतलब स्पेनिश भाषा में वेट और पाउंड होता है जिसका मतलब पेसो ही है।

Share

Recent Posts