जानिए आखिर क्यों होते हैं गाडियों के नंबर प्लेट अलग-अलग रंग के

0
26

गाड़ियों में नीली, पीली, काली, लाल और सफेद रंग की नंबर प्लेट लगी होती हैं। अलग-अलग गाड़ियों की नंबर प्लेट का रंग यूं ही अलग-अलग नहीं होता है। इसके पीछे भी खास वजह होती है, जिसे शायद सभी नहीं जानते हैं। आपको बताते हैं कि अलग-अलग रंग की नंबर प्लेट होने का क्या मतलब होता है।

# सफेद प्लेट:-

यह प्लेट आम लोगों की गाड़ियों का प्रतीक होती है, इस गाड़ी का आप कमर्शियल यूज नहीं कर सकते हैं। इस प्लेट के अंदर के नंबर काले रंग से लिखे होते हैं।

# पीली प्लेट:-

पीली प्लेट आमतौर पर उन ट्रकों या टैक्सी में लगी होती हैं जिनका आप कमर्शियल उपयोग करते हैं। इस प्लेट के अंदर भी नंबर काले रंग से लिखे होते हैं।

# नीली प्लेट:-

इस रंग की नंबर प्लेट की गाड़ी आपको दिल्ली जैसे शहरों में आसानी से देखने को लिए मिल सकती हैं। नीली प्लेट यह बताती है की यह गाड़ी विदेशी दूतावास की है या फिर यूएन मिशन के लिए है। नीले रंग की इस प्लेट पर सफेद रंग से नंबर लिखे होते हैं।

# काली प्लेट:-

काले रंग की प्लेट वाली गाड़ियां भी आमतौर पर कमर्शियल वाहन ही होती हैं, लेकिन ये किसी अन्य व्यक्ति के लिए होती हैं। इस प्रकार की गाड़ियां आपको किसी भी बड़े होटल में खड़ी मिल जाएंगी। इसकी काली प्लेट में नंबर पीले रंग से लिखे होते हैं।

# लाल प्लेट:-

ये लाल रंग की नंबर प्लेट वाली गाड़ियां देश के बड़े लोगों जैसे राज्यपाल या राष्ट्रपति के लिए होती हैं। ये लोग बिना लाइसेंस की ऑफिसियली गाड़ियों का उपयोग करते हैं। इस प्लेट में गोल्डन रंग से नंबर लिखे होते हैं और इन गाड़ियों में लाल रंग की नंबर प्लेट पर अशोक की लाट का चिंह बना हुआ होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here