भारत के इस शहर में आलू-प्याज के भाव बिक रहा है ‘काजू’

0
24

काजू एक ऐसा ड्राई फ्रूट है जो भारत में सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। ये सेहत के लिए काफी अच्छा माना जाता है और इसका प्रयोग मिठाई और पकवानों में भी आमतौर पर किया जाता है। बाकि सूखे मेवों की तरह इसकी कीमत दिनों दिन आसमान छू रही है।

lowest cashew price in india

पर आप शायद नहीं जानते होंगे की अधिकांश जगह ऊँचे दामों पर बिकने वाला काजू भारत के ही एक शहर में कौड़ियों के भाव मिलता है। जी हाँ आप शायद विष्वास न करे इस शहर में बाजार में 800 रूपए से 1000 रूपए प्रतिकिलो बिकने वाला काजू 10 से 20 रुपये किलो में बिकता है।

हमारे ही देश के झारखण्ड राज्य के जामताड़ा जिले में काजू के दाम आलू-प्याज और अन्य सब्जियों के बराबर हैं। अब आप यही सोच रहे होंगे की यहाँ काजू इतना सस्ता क्यों है तो आपको बता दे की यहां पर हर साल हज़ारों टन काजू पैदा किया जाता है।

जामताड़ा जिला मुख्यालय से लगभग चार किमी. की दूरी पर 49 एकड़ के विशाल भू भाग पर काजू के बागान हैं। इन बागानों में काम करने वाले लोग इन्हें बेहद सस्ते भाव पर बेच देते हैं। देश के अन्य प्रांतों में काजू की बढ़ती कीमत के कारण लोगों का काजू की खेती के प्रति झुकाव निरन्तर बढ़ रहा है पर सरकार इस खेती के लिए अभी तक मूलभूत सुविधाएँ भी मुहैया कराने में असमर्थ रही है।

lowest cashew price in india

जामताड़ा के इस क्षेत्र के लोगों का कहना है कि कुछ साल पहले जामताड़ा के एक्स डिप्टी कमिश्नर कृपानंद झा यहाँ आए और उन्होंने उड़ीसा के कृषि वैज्ञानिकों से भू परिक्षण कराकर यहाँ काजू की खेती शुरू कराई।

उनके प्रयासों की वजह से कुछ ही सालों में यहां काजू की खेती तो खूब अच्छी होने लगी पर इस विशाल काजू बागान में सुरक्षा और निगरानी के कोई खास इंतज़ाम न होने की वजह से काफी फसल या तो चोरी हो जाती है या भी बागान के मजदूर औने-पौने दाम में बेच देते है। काजू की खेती से जुड़े लोग अनेकों बार राज्य सरकार से सुरक्षा के लिए कह चुके हैं पर अभी तक कोई नतीजा नहीं निकला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here