थाईलैंड ने खोजी Corona Virus की दवा, मरीजों को कुछ ही घंटों में मिलेगी राहत!

0
24

इस समय चीन में कोरोना वायरस काफी तेजी से फ़ैल रहा है। फिलहाल यहां 5 शहर पूरी तरह खाली हो चुके हैं। साथ ही 35 मिलियन लोग इसकी चपेट में हैं। पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का आतंक फ़ैल चुका है। Medicine for Corona Virus

कई देशों में इसके पेशेंट पाए गए हैं। खुद भारत में भी इस वायरस से ग्रस्त मरीज मिले हैं। दुनिया इस बीमारी से खुद को बचाने की कोशिशों में लगी है

आपको तो पता ही हैं कि कोरोना वायरस चीन में तेजी से फ़ैलता जा रहा हैं. जिसका असर अब दुसरे देशों में भी देखने को मिल रहा हैं.

आपको बता दें कि इस वायरस की वजह से कई लोग अपने जान गवां चुके हैं. कोरोना वायरस के कारण चीन में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के आदेश पर इमरजेंसी की घोषणा कर दी गयी हैं.

लेकिन आपको बता दें की थाईलैंड ने दावा किया हैं की उसने दवा बना ली हैं और इसके असर से मरीज ठीक भी हो रहे हैं. आइये जानते हैं उस दवा के बारे में.

ये भी पढ़िए : कोरोना वायरस की भारत में एंट्री, जानिए लक्षण और बचाव के तरीके

पहली मरीज जो हुई वायरस से फ्री :

थाईलैंड ने कोरोना वायरस को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है. थाईलैंड के स्वास्थ्य मंत्री अनुतिं चारणविरकुल ने दावा किया है कि उनके पास इस वायरस से निपटने के लिए इंजेक्शन है. जिसको लगा देने से मरीज को आराम हो रहा है और वो इस बीमारी से जल्दी रिकवर कर ले रहा है.

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कुछ दिन पहले कोरोना वायरस से प्रभावित एक चीनी महिला का थाईलैंड के डॉक्टरों ने सफल इलाज किया है.

इस महिला का इलाज करने वाले थाई डॉक्टर ने बताया कि 71 साल की बीमार महिला को एंटी-वायरल के कॉम्बिनेशन से बनी दवा देने से वह ठीक हो गई.

medicine for corona virus
medicine for corona virus

इसके अलावा शंघाई म्यूनिसिपल हेल्थ कमीशन ने बताया कि 56 साल की महीना चेन को 10 जनवरी को बुखार हुआ था। इसके बाद उसे 12 को हॉस्पिटल में एडमिट किया गया था।

लेकिन 15 दिन के इलाज के बाद अब चेन वायरस से मुक्त हैं। उसे हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

डॉक्टर्स ने दावा किया है कि चेन का इलाज एचआईवी ड्रग्स द्वारा किया गया है। दो हफ्ते मेडिकल ओब्सर्वेशन में रहने के बाद चेन में इस वायरस के खत्म होने के सिम्पटम्स दिखे।

ये भी पढ़िए : ये उपाय स्किन की खुजली और चर्म रोग को जड़ से ख़त्म कर देगा

एचआईवी ड्रग्स से इलाज :

इस दवा को फ्लू और एचआईवी के इलाज में इस्तेमाल होने वाली एंटी-वायरल के मिश्रण से बनाया गया. थाइलैंड ने यह दवा किया कि इस दवा से कई मरीज ठीक हो रहे हैं.

इलाज करने वाले डॉक्टर ने कहा कि 48 घंटे बाद हुए लैब टेस्ट में महिला में वायरस नहीं मिले. इलाज के मात्र 12 घंटे बाद ही वह बिस्तर से उठ गई.

थाईलैंड ने दावा किया कि वायरस से बीमार 8 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं. डॉक्टर्स का दावा है कि इस वायरस को एचआईवी वायरस द्वारा खत्म किया जा सकता है।

medicine for corona virus
medicine for corona virus

चीन में ही क्यों जन्म लेती हैं बड़ी बीमारी :

Corona Virus नाम की नई बीमारी ने दुनिया के कई हिस्सों को अपनी चपेट में ले लिया है. चीन में इस वायरस ने कई जानें ले ली है और अब ये वायरस दूसरे देशों में भी फैल रहा है.

सवाल ये है कि आखिर संक्रमण से फैलने वाली सारी घातक बीमारियां चीन से ही क्यों फैल रही हैं? विशेषज्ञ बताते हैं कि चीन से नई-नई बीमारियों के फैलने की एक वजह वहां का फूड मार्केट है.

चीन के शहरों में फल-सब्जी से लेकर मीट के मार्केट फैले हुए हैं. खासकर चीन के मांस के मार्केट नई बीमारियों की जड़ बनते जा रहे हैं.

चीन में कई तरह के जानवरों के मांस मिलते हैं. चीन के लोग सांप-छिपकली से लेकर सीफूड के नाम पर कई तरह के समुद्री जीवों का मांस खाते हैं.

चीन के शहरों में मीट के मार्केट में ये सब खुलेआम मिलता है. चीन के शहरों की घनी आबादी और वहां के मीट के मार्केट की वजह से वहां से नई-नई बीमारियां पनप रही हैं.

ये भी पढ़िए : अगर आप भी करते है हैंडड्रायर का इस्तेमाल, तो हो जाइये सावधान

इन कारणों से पनपती है बीमारियाँ :

चीन के मांस के बाजार बीमारियों की जड़ :

चीन के मांस के बाजार नई और संक्रामक बीमारियों की जड़ हैं. हाल के वर्षों में ऐसी कई बीमारियां सामने आई हैं, जिसके वायरस जानवरों के मांस से आदमी के शरीर में आए हैं और फिर इनका संक्रमण तेजी से फैला है. एचआईवी (एड्स), सार्स और H1N1 इनफ्लुऐंजा ऐसी ही बीमारियां हैं.

चीन में बड़े पैमाने पर होती है एनिमल फार्मिंग :

विशेषज्ञ बताते हैं कि मीट मार्केट में जानवरों के मांस और ब्लड का ह्यूमन बॉडी से संपर्क होता रहता है. ये वायरस के फैलने की सबसे बड़ी वजह है. खासकर हाईजीन में थोड़ी भी चूक वायरस के फैलने में मददगार साबित होती है. ये कहीं भी हो सकता है.

मसलन इबोला नाम का वायरस अफ्रीका से पूरी दुनिया में फैला. इबोला के वायरस चिंपाजी से ह्यूमन बॉडी में आए थे. अफ्रीका में चिंपाजी को मारकर खाने की वजह से वायरस आदमी के शरीर में पहुंचा और फिर संक्रमण की वजह से ये पूरी दुनिया में फैला.

medicine for corona virus
medicine for corona virus

चीन के शहरों की घनी आबादी भी एक वजह :

चीन की आबादी करीब 140 करोड़ है. दुनियाभर का करीब 50 फीसदी पशुधन चीन के पास है. इसकी वजह से जानवरों से आदमी के शरीर में पहुंचने वाले वायरस को मनमुताबिक वातावरण मिल जाता है.

चीन का दुनिया के बाकी देशों के साथ संपर्क भी ज्यादा है. चीन का एयर नेटवर्क मजबूत है. इसकी वजह से चीन से संक्रमण तेजी से दुनिया के बाकी हिस्सों में फैल जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here