अंपायरों की इन 3 गलतियों ने न्यूजीलैंड से छीना वर्ल्ड कप

0
0

इंग्लैंड ने रोमांच के चरम तक पहुंचे वर्ल्ड कप 2019 फाइनल में रविवार को लॉर्ड्स में मैच और सुपर ओवर के ‘टाई’ होने के बाद भी न्यूजीलैंड पर बाउंड्री की गिनती ज्यादा होने के कारण पहली बार वर्ल्ड चैम्पियन बनने का गौरव हासिल किया. मैच पहले टाई रहा और फिर सुपर ओवर में भी दोनों टीमों ने समान रन बनाए. इसके बाद फैसला ‘बाउंड्री’ से किया गया. मेजबान इंग्लैंड अधिक ‘बाउंड्री’ लगाई थी और आखिर में 1975 से चला आ रहा उसका खिताब का इंतजार खत्म हो गया. Poor Umpiring Cricket World Cup 2019

सुपर ओवर को छोड़ दें तो इस मैच में खराब अंपायरिंग भी सबसे बड़ी वजह रही जिसने न्यूजीलैंड से वर्ल्ड चैम्पियन बनने का मौका छीन लिया. फाइनल में अंपायर कुमार धर्मसेना और माराइस एरास्मस ने तीन गलत फैसले दिए जिसका इंग्लैंड को फायदा मिला वहीं न्यूजीलैंड का दिल टूट गया.

यह पढ़ें : क्या है डकवर्थ लुइस नियम, क्यों और कब होता है इसका प्रयोग

निकोल्स को गलत एलबीडब्ल्यू-

न्यूजीलैंड की पारी के तीसरे ओवर में हेनरी निकोल्स को धर्मसेना ने एलबीडब्ल्यू आउट करार दिया था. हालांकि रिव्यू के बाद वह नाबाद करार दिए गए थे, क्योंकि गेंद स्टंप्स के ऊपर से जा रही थी.

केन विलियमसन का विकेट-

इसके बाद 23वें ओवर में लियाम प्लंकेट की गेंद केन विलियमसन के बल्ले से लगकर विकेटकीपर के हाथों में गई, लेकिन धर्मसेना ने आउट करार नहीं दिया. इंग्लैंड ने फैसले पर रिव्यू लिया और फैसला उनके पक्ष में गया.

रॉस टेलर पर गलत फैसला-

34वें ओवर में मारेयस ऐरामस ने मार्क वुड की गेंद पर रॉस टेलर को एलबीडब्ल्यू करार दिया, हालांकि रिप्ले में साफ था कि गेंद स्टंप्स के ऊपर से जा रही थी. हालांकि मार्टिन गप्टिल ने पहले ही न्यूजीलैंड का रिव्यू गंवा दिया जिसके कारण टेलर को वापस जाना पड़ा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here