SBI की ये सर्विस 1 अगस्त से हो जाएगी फ्री, करोड़ों लोगों को होगा फायदा

0
13

अगर आप भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के ग्राहक हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है. देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) अपने ग्राहकों के लिए पैसों के लेन-देन से जुड़ी सर्विस आईएमपीएस (IMPS) सर्विस को 1 अगस्त से बिल्कुल मुफ्त करने जा रहा है। अभी तक आईएमपीएस करने पर बैंक चार्ज लेता था लेकिन अब 1 अगस्त से यह चार्ज नहीं लगेगा। SBI Waived Off Charges on Imps Service

इससे पहले एसबीआई बैंक ने आरटीजीएस (RTGS) और एनईएफटी (NEFT) चार्ज योनो, इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग कस्टमर के लिए 1 जुलाई से खत्म कर दी थी। अब बैंक आईएमपीएएस के चार्ज योनो, इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग कस्टमर के लिए 1 अगस्त से खत्म कर देगा।

Read : कब और किस स्थिति में निकाल सकते हैं PF का पूरा पैसा?

31 मार्च 2019 तक एसबीआई के 6 करोड़ कस्टमर इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं 1.41 करोड़ कस्टमर मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल कर रहे हैं। एसबीआई बैंक के डिजिटल प्लेटफॉर्म योनो के करीब 1 करोड़ यूजर हैं। बैंक का मानना है कि एनईएफटी, आईएमपीएस और आरटीजीएस चार्ज खत्म करने से डिजिटल ट्रांजेक्शन करने वाले ग्राहकों की संख्या में इजाफा होगा।

Sbi to Link Home Loans With Repo Rate

इसके अलावा बैंक ने ब्रांच नेटवर्क के जरिए आरटीजीएस और एनईएफटी करने वाले कस्टमर के लिए चार्ज 20 फीसदी तक कम कर दिया है।

क्या है एसबीआई का फैसला :

एसबीआई की ओर से बताया गया है कि 1 अगस्त से वह IMPS (इमीडिएट पेमेंट सर्विस) पर शुल्क नहीं लेगा. बैंक ने यह फैसला डिजिटल मोड के पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए लिया है.

यहां बता दें कि IMPS ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने की एक सुविधा है. इसके जरिए आप चंद मिनटों में 2 लाख रुपये तक की रकम किसी दूसरे बैंक खाते में ट्रांसफर कर सकते हैं.

Read : पहली जुलाई से बदलेगा SBI का नियम, करोड़ों ग्राहकों पर पड़ेगा असर

एसबीआई के फैसले का फायदा :

एसबीआई के फैसले का सबसे अधिक फायदा ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने वाले ग्राहकों को होगा. दरअसल, अभी इस सर्विस के लिए बैंक एक निश्चित चार्ज लेता है. यह चार्ज ट्रांसफर अमाउंट के हिसाब से बदलता है.

कितना लगता है चार्ज :

एसबीआई 1,000 से लेकर 10,000 रुपये तक की राशि भेजने पर 1 रुपये के अलावा जीएसटी का शुल्क वसूलता है. इसी तरह 10,001 रुपये से 1,00,000 रुपये तक की राशि ट्रांसफर करने पर 2 रुपया+जीएसटी लगता है.जबकि 1,00,001 रुपये से 2,00,000 रुपये तक के अमाउंट को आईएमपीएस सर्विस के जरिए ट्रांसफर करने पर 3 रुपया+जीएसटी देना होता है.

SBI Waived Off Charges on Imps Service
SBI Waived Off Charges on Imps Service

क्या है आईएमपीएस सर्विस

1. इसके जरिए आप 24X7 फंड ट्रांसफर कर सकते हैं। इस सर्विस की खास बात यह है कि इसमें रियल टाइम यानी तुरंत सामने वाले के अकाउंट में आ जाता है।
2. अगर आपने किसी व्यक्ति को IMPS के जरिए रात को एक बजे फंड ट्रांसफर किया है, तो वह उसी समय अकाउंट होल्डर के अकाउंट में पहुंच जाएगा।
3. ये सेवा छुट्टी के दिन भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बता दें कि 1 हजार रुपये तक के मनी ट्रांसफर पर कोई चार्ज नहीं लगता है. अब 1 अगस्त से ये चार्ज नहीं लगेंगे. इससे पहले एसबीआई ने 1 जुलाई से आॅनलाइन पेमेंट सर्विस एनईएफटी और आरटीजीएस के जरिए पैसे ट्रांसफर करने की सुविधा फ्री कर दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here