जानिए आखिर कहाँ से आये थे गाँधी जी के तीन बन्दर

0
57

दोस्तों हम बचपन के समय से ही ऐसे कई किस्से और कहानियां अपने बड़ों से सुनते आ रहे हैं उन पर हमारा यकीन तो उसी समय हो जाता है लेकिन वक्त के साथ हम भूल जाते हैं कि इसके पीछे की क्या कहानी है और असल वजह है इस बात पर हम गौर नहीं करते। Secret About Three Monkeys

हमारी बचपन की दिलचस्प किस्से और कहानियां

आपके बचपन की कहानियों में से एक के बारे में हम यहां बात करने जा रहे हैं। जो आपको याद तो जरुर होगी लेकिन अब समय के साथ हम इस तरह की कहानियों से दूर होते जा रहे हें।

गांधी जी ने सिखाएं कहानियों के साथ कई सिध्दांत

आपको याद दिला दें कि गांधी जी के आदर्शों और सिध्दांतों के बारे में तो हम बचपन से ही सुनते आ रहे हैं, जिन्होंने दुनियाभर में सत्य और अहिंसा का पाठ पढ़ाया था। जब हम गांधी जी के सिध्दांतो की बात करते हैं तो उनके तीन बंदरों का भी जिक्र होता है, जिनके बारे में हम बचपन से ही सुनते आ रहे हैं।

 

गांधी जी के तीन बंदरों की कहानी के पीछे का सच

लेकिन क्या आप जानते हैं कि गांधी जी के ये तीन बंदर कहां से आए और किस तरह ये गांधी जी के सिध्दांतो में से एक बन गए? आज हम आपको इसके पीछे की ही दिलचस्प कहानी बताने जा रहे हैं।

गांधी जी अपने आदर्शों को लेकर दुनियाभर में जाने जाते थे, विदेशों से लोग उनसे मिलने आया करते थे। ऐसे ही एक बार चीन का एक प्रतिनिधिमंडल गांधी जी से मिलने आया था। गांधी जी से मुलाकात करने के बाद चीन के इस प्रतिनिधिमंडल ने उन्हें एक भेंट दी थी, जिसमें तीन बंदरों वाली एक मूर्ति थी।

इस तरह तीन बंदर बन गए गांधी जी के सिध्ंदातों में से एक

इस भेंट के साथ ही उन्होंने कहा था, कि भले ही यह एक छोटी सी भेंट हैं लेकिन उनके यह चीन में काफी मशहूर है। उनकी इस बात से गांधी जी ने उनकी इस भेंट को प्यार से स्वीकार कर लिया था। उस समय के बाद से ही ये तीन बंदर गांधी जी से जुड़ गए और आगे चलकर ये उनके सिध्दांतो में से एक बन गए और इस रुप में ही विख्यात हो गए।

गांधी जी के तीन बंदरों के हैं ये नाम

कहा जाता है कि इन तीनों ही बंदरों के नाम भी हैं, जिनमें से पहले बंदर का नाम मिजारु है जो अपने आंखो में हाथ रख बताता है कि बुरा मत देखो।

गांधी जी के दूसरे बंदर का नाम मिकाजारु है जो अपने कानों में हाथ रख बताता है कि बुरा मत सुनो।

वहीं गांधी जी के तीसरे बंदर का नाम मजारु है जो अपने मुंह में हाथ रख दिखाता है कि कभी बुरा मत कहो।

तीन बंदरों को यूनेस्को ने भी शामिल किया अपनी वर्ल्ड हेरीटेज लिस्ट में

आपको शायद इस बारे में जानकारी नहीं होगी कि गांधी जी के इन तीन बंदरों को यूनेस्को ने अपनी वर्ल्ड हेरीटेज की लिस्ट में शामिल किया है। जापान में भी इन बंदरों को काफी बुध्दिमान बंदर के तौर पर माना जाता है और शिंटो समुदाय इन्हें काफी सम्मान देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here