सोनाली बेंद्रे को हुआ हाई ग्रेड कैंसर, जानें इसके कारण और उपचार

0
5

बॉलीवुड सेलेब्स अक्सर सभी लोगों के आइडल होते हैं। हर कोई चाहता है कि जिस तरह वो लोग शानों शौकत और आराम से अपनी जिंदगी जीते हैं उसी तरह हम भी जीए। लेकिन यह भी सच है कि बॉलीवुड सेलेब्स की चमकती दुनिया के पीछे एक काला अंधेरा भी होता है। बॉलीवुड की मशहूर अदाकार सोनाली बेंद्रे ने भी अपने ऐसे ही एक अंधेरे का आज खुलासा किया है। दरअसल सोनोली बेंद्रे को हाई ग्रेड कैंसर हो गया है। अभिनेत्री ने अभी कुछ समय पहले ही इस बात की औपचारिक घोषणा की है। सेलेब्रिटी ने कहा कि वह इस जंग से लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। फिलहाल उनका अमेरिका में इलाज चल रहा है। Sonali Bendre Dagnosed With Cancer

सोनाली के प्रवक्ता की तरफ़ से जारी बयान में कहा गया है कि उन्हें हाईग्रैंड कैंसर हुआ है, जोकि शरीर के अन्य भागों में भी फैल गया है l जब यह हो रहा था, तब उन्हें इसका पता भी नहीं चला l उन्होंने अभी एक छोटे से दर्द की जांच करवाई जिसके बाद इस बीमारी का खुलासा हुआ है। वाकई कैंसर एक बहुत खतरनाक बीमारी है जिससे लड़ने से लिए हिम्मत और साहस की बहुत जरूरत होती हैं। आज हम आपको बताएंगे कि क्या है हाई ग्रेड कैंसर और क्या होते हैं इसके लक्षण, कारण और उपचार।

हाई ग्रेड कैंसर

कैंसर शरीर की कोशिकाओं को प्रभावित करता है। शरीर में नये सेल्स और पुराने सेल्स के बदलाव की प्रक्रिया में कैंसर होने की ज्‍यादा संभावना होती है। सामान्य तौर पर शरीर में कुछ नये सेल्स बनते हैं और पुराने सेल्स टूटते हैं जिनके असमान्य जमाव से कैंसर होने की आशंका बढ़ जाती है। उच्च ग्रेड (खराब अंतर) कैंसर में, कैंसर कोशिकाएं सामान्य कोशिकाओं से बहुत अलग दिखती हैं। हाई-ग्रेड कैंसर अक्सर तेजी से बढ़ते हैं और एक खराब दृष्टिकोण होता है ताकि उन्हें निम्न ग्रेड कैंसर की तुलना में विभिन्न उपचार की आवश्यकता हो। जबकि निम्न ग्रेड कैंसर में कोशिकाएं सामान्य ऊतक से कोशिकाओं की तरह दिखती हैं। आम तौर पर, ये कैंसर धीरे-धीरे बढ़ता है।

सोनाली को हुआ है ये कैंसर!

मेटास्टैटिक कैंसर शरीर में होने वाले अन्य प्रकार के कैंसर की तुलना में ज्यादा खतरनाक माना जाता है, जिसकी वजह इसका शरीर के बाकी हिस्सों में फैल जाना है। मैटास्टैटिस का मतलब होता है रूप बदलना, यह कैंसर करीब करीब ऐसा ही करता है। कैंसर के सेल्स टूटने के बाद खून में मिलकर शरीर के बाकी हिस्सों में भी फैल जाते हैं। जिससे कि पूरे शरीर की प्रक्रिया प्रभावित होने लगती है। मेटास्टेसिस शब्द का अर्थ है कैंसर का फैलना. जब शरीर में मौजूद ट्यूमर से कैंसर सेल्स टूटने के बाद खून में मिलकर पूरे शरीर में फैलने लगते हैं. इस तरह कैंसर पूरे शरीर में फैलने लगता है. इस स्थिति को मेटास्टेसिस कैंसर कहते हैं.

क्या हैं सोनाली को हुए कैंसर के लक्षण

इस कैंसर के लक्षणों में मुख्य रूप इस बात पर ज्यादा निर्भर करते हैं कि कैंसर शरीर के किस हिस्से तक फैल रहा है। जैसे अगर कैंसर की शुरुआत हड्डियों से होती है या हड्डियों में फैलता है तो हड्डियां कमजोर हो जाती हैं जिसके की दर्द रहने लगता है और फ्रैक्चर भी संभव है। इसके अलावा अगर कैंसर मस्तिष्क पर हमला करता है तो सिरदर्द, दौरे पड़ना या चक्कर आना के लक्षण दिखते हैं। इसी तरह जब कैंसर फेफड़ों की ओर बढ़ता है तो सांस लेने में दिक्कत आने लगती है। वहीं जब कैंसर यकृत (लीवर) तक पहुंचता है तो पेट में सूजन, दर्द और पीलिया लक्षण के रूप में उभरते हैं। इस कैंसर के सबसे आम लक्षणों में शामिल हैं हड्डियों में दर्द, उनका टूटना, मल-मूत्र पर कंट्रोल खोना, हाथ और पैरों में कमज़ोरी आना, खून में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाने की वजह से चक्कर, उलटी और दस्त होना.

किस हद तक और कैसे इलाज संभव

एक वक्त के बाद मैटास्टैटिक कैंसर के सेल्स की बढ़ोतरी रोकना मुश्किल हो जाता है। क्योंकि यह पूरे शरीर में फैल जाता है। लेकिन अगर समय रहते कैंसर का पता लग जाए तो इस कैंसर के कहर से रोगी को बचाया जा सकता है।

क्या मेटास्टेसिस कैंसर पूरी तरह ठीक हो पाता है?

एक बार मेटास्टेसिस कैंसर होने के बाद इसे कंट्रोल करना बेहद मुश्किल होता है. शुरुआती वक्त में इसे कुछ हद तक रोका जा सकता है लेकिन शरीर के कुछ खास हिस्सों में खून के जरिए फैलने वाले इस कैंसर से मरीज को बचा पाना मुश्किल हो जाता है. पुरुषों से ज्यादा महिलाएं इस बीमारी से पीड़ित, वजन बढ़ना, कब्ज और रूखे बाल मुख्य लक्षण​ हैं

मेटास्टेसिस कैंसर का इलाज कैसे किया जाता है?

आमतौर पर मेटास्टेसिस कैंसर को सिस्टमिक थेरेपी या फिर दवाइयों और इंजेक्शन के जरिए रोका जाता है. खून में इसे और फैलने से बचाने के लिए कीमोथेरेपी या फिर हार्मोन थेरेपी की जाती है. इसके अलावा कई बायोलॉजिकल थेरेपी जैसे रेडिएशन थेरेपी, सर्जरी या फिर इन दोनों के जरिए मेटास्टेसिस कैंसर के मरीज का इलाज किया जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here