जाने अगर भौहें आपस में जुडी हुई हो तो इसका क्या मतलब होता है

आपने अक्सर सुना होगा कि इंसान के चेहरा ही उसके मन का आईना होता है. हालांकि चेहरे के इलावा भी इंसान के शरीर के ऐसे बहुत से अंग है, जो उसके व्यक्तित्व के बारे में काफी कुछ जाहिर करते है. जी हां जैसे कि व्यक्ति का माथा, उसकी नाक और उसके हाथ की हथेलियां आदि सबसे हम किसी भी व्यक्ति के बारे में बहुत कुछ जान सकते है. अब इसमें तो कोई दोराय नहीं कि इस दुनिया में हर व्यक्ति का न केवल चेहरा बल्कि उसका स्वभाव भी बेहद अलग होता है. बरहलाल आज तक आपने व्यक्ति का चेहरा देख कर उसके बारे में काफी कुछ जानने की कोशिश की होगी, लेकिन क्या आप जानते है कि एक व्यक्ति की भौहें भी उसके बारे में बहुत कुछ बताती है.

जी हां समुद्र शास्त्र के अनुसार ऐसा माना जाता है, कि व्यक्ति की भौहों की संरचना से उसके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता किया जा सकता है. यानि इससे आप किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व से जुडी बातों को जान सकते है. इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि जिस व्यक्ति की भौहें आपस में जुडी होती है, वास्तव में उनका स्वभाव और उनका व्यक्तित्व किस किस्म का होता है. हमें यकीन है कि इस जानकारी को पढ़ कर आपको भी काफी मजा आएगा. तो चलिए अब आपको इस दिलचस्प जानकारी के बारे में विस्तार से बताते है.

गौरतलब है कि जिस व्यक्ति की दोनों भौहें आपस में जुडी हुई हो, ऐसे व्यक्ति को यूनीब्रो कहा जाता है. जी हां ऐसे व्यक्ति काफी क्रिएटिव होते है. यानि ये लोग कलात्मक होते है और कला से संबंधित कामो में बेहद रूचि रखते है. यानि अगर हम सीधे शब्दों में कहे तो ये लोग कला में निपुण होते है. इसके इलावा इन लोगो की कल्पना करने की क्षमता भी बाकी लोगो से काफी ज्यादा होती है. यानि ये लोग जरूरत से ज्यादा कल्पनाशील होते है. इसके साथ ही ऐसे लोग हमेशा अपने काम में ही मग्न रहना पसंद करते है. ऐसे में दूसरे लोग इनके बारे में क्या कहते है या क्या सोचते है, इन्हे इस बात से भी कोई फर्क नहीं पड़ता.

जी हां इन्हे इस बात की कोई फ़िक्र नहीं होती, कि दूसरे लोग इनके या इनके काम के बारे में क्या कहेगे. वैसे आपको जान कर ताज्जुब होगा कि ऐसे लोग ख्याली पुलाव बनाने में भी काफी तेज होते है. शायद यही वजह है कि ये लोग अपनी कला का सही इस्तेमाल करने से चूक जाते है. यानि अगर हम सच कहे तो ये लोग कला के मालिक तो जरूर होते है, लेकिन अपनी कला का सही इस्तेमाल कहा और कैसे करना है, ये बात इन्हे कम ही समझ में आती है.

बरहलाल अगर आपकी भौहें भी आपस में जुडी हुई है, तो हम उम्मीद करते है कि जो भी बातें हमने आपके बारे में बताई है, वो सब सच होंगी और इन बातों को पढ़ने के बाद अब आप भी अपनी कला का सही इस्तेमाल जरूर करेंगे. हालांकि हम जानते है कि कुछ लोग ऐसे भी होंगे जो इन बातों को बकवास कह कर नजर अंदाज कर देंगे, लेकिन फिर भी अगर ये बातें समुद्र शास्त्र में कही गई है, तो इनमे कुछ न कुछ हकीकत तो जरूर होगी.

बरहलाल आपको बताना हमारा काम था, लेकिन इन बातों को स्वीकार करना या न करना ये तो आपकी सोच पर निर्भर करता है.

Share

Recent Posts