बाथरूम के अंदर भूलकर भी ना करे ये काम, होता हैं बड़ा अपशगुन

0
9

दोस्तों घर की बाथरूम वो जगह हैं जिसका उपयोग घर के सभी सदस्य करते हैं. आपको जान हैरानी होगी लेकिन घर के बाकी वास्तु के साथ साथ बाथरूम का वास्तु भी बहुत मायने रखता हैं. जब भी लोग घर बनवाते हैं तो बाकी जगह वास्तु का ध्यान रख लेते हैं लेकिन बाथरूम में वास्तु पर इतना जोर नहीं देते हैं. Vastu Tips For Bathroom

हम आपको बता दे कि बाथरूम का वास्तु भी काफी मायने रखता हैं. आपकी बाथरूम किस दिशा में और किस तरह बनी हैं सिर्फ यही चीजें महत्त्वपूर्ण नहीं होती बल्कि आप बाथरूम के अंदर क्या काम करते हो और किस तरह से काम करते हो ये भी प्रभाव डालता हैं.

यह भी पढ़ें : इन वास्तु टिप्स से आएगी घर में सुख-शांति

एक अच्छा वास्तु घर में सकारात्मक उर्जा फैलाता हैं जो आपकी और घर की तरक्की के लिए अच्छा होता हैं. वहीँ एक खराब वास्तु घर में नकारात्मक उर्जा लाता हैं जो घर में बर्बादी ही बर्बादी करता हैं. ऐसे में आज के आर्टिकल में हम आपको कुछ ऐसे कामो के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें आपको बाथरूम के अंदर भूलकर भी नहीं करना चाहिए.

यह भी पढ़ें : क्यों घर में बाथरूम और टॉयलेट नहीं होने चाहिए एक साथ

1. टूटी बाल्टी :

कई लोगो की बाथरूम में बाल्टी के टूट जाने के बाद भी उसे फेका नहीं जाता हैं. यदि आपके यहाँ भी ऐसा होता हैं तो आज ही संभल जाए. टूटी बाल्टी में पानी डाल नहाने से नेगेटिव एनर्जी उत्पन्न होती हैं. ऐसे में जो व्यक्ति इस पानी से स्नान करता हैं उसके अन्दर भी नकारत्मक उर्जा वास कर जाती हैं. ऐसे में आदमी काफी चिडचिडा और गुस्से वाला बन जाता हैं. उसके द्वारा लिए सारे निर्णय गलत होते हैं और सभी काम बिगड़ने लगते हैं. इसलिए वास्तु के अनुसार कभी भी टूटी बाल्टी से नहीं नहाना चाहिए. यही बात टूटे हुए मग्गे पर भी लागु होती हैं.

Vastu Tips for Bathroom

2. गंदी बाथरूम :

बाथरूम की समय समय पर साफ़ सफाई होते रहना बेहद जरूरी होता हैं. एक गंदी बाथरूम का इस्तेमाल ना सिर्फ स्वास्थ की दृष्टि से बुरा होता है बल्कि वास्तु के हिसाब से भी इसे गलत माना गया हैं. जिस बाथरूम में मकड़ी के जाले लटक रहे हो, हरी काई जम गई हो या गंदी जमा हो उसका इस्तेमाल करना पुरे घर के वास्तु के लिए हानिकारक होता हैं. ऐसी जगह पर सबसे अधिक नेगेटिव एनर्जी उत्पन्न होती हैं जो धीरे धीरे कर पूरे घर को और सभी सदस्यों को प्रभावित करती हैं. इसलिए आप अपनी बाथरूम को हमेशा साफ़ सुथरा ही रखे.

यह भी पढ़ें : ट्रायल रूम, होटल, बाथरूम में छिपे हुए कैमरों का पता कैसे लगायें ?

3. टूटी कुण्डी या दरवाजे वाली बाथरूम :

बाथरूम की कुण्डी या दरवाजे का टूटा होना भी वास्तु के अनुसार अशुभ माना जाता हैं. यदि आपके दरवाजे में बड़ी सी दरार हैं या वो ठीक से लगा नहीं हैं और कहीं से टूटा हैं तो आपको उसे तुरंत बदल देना चाहिए या ठीक करवा लेना चाहिए. बाथरूम के दरवाजे या कुण्डी का टूटा होना घर में दरिद्रता लाता हैं. चूंकि हम बाथरूम में अपनी सभी गन्दगी को त्यागते हैं इसलिए उसके अन्दर की नकारात्मक उर्जा को रोकने का काम भी ये बाथरूम में लगा दरवाजा करता हैं. दरवाजा टूटा होगा तो बाथरूम की ये नेगेटिव एनर्जी सदा आपके घर के अन्य हिस्सों में भी फैलती जाएगी.

Vastu Tips for Bathroom
Vastu Tips for Bathroom

आधुनिकता के इस दौर में भी वास्तु शास्त्र की अहमियत बरकरार है। खास तौर से घर निर्माण के समय इसका बेहद ध्यान रखा जाता है। आखिरकार घर की सुख-समृद्धि और शांति का सवाल जो होता है। ऐसे में व्यक्ति घर के हर एक हिस्से को वास्तु के हिसाब से बनाने की कोशिश करता है। फिर चाहे वो टॉयलेट या बाथरूम ही क्यों ना हो और अगर इसमें कोई वास्तु दोष है तो भी परेशान होने की जरूरत नहीं, क्योंकि इसके भी कई उपाय मौजूद हैं। आइए इनसे आपको रूबरू कराते हैं-

सबसे पहले दिशा ज्ञान होना जरूरी है। किसी भी घर में टॉयलेट ईशान कोण को छोड़कर कहीं भी बना सकते हैं। घर के उत्तर-पूर्व कोने को ईशान कोण कहते हैं। यहां शौचालय बनाने से स्वास्थ संबंधी परेशानियां और आर्थिक कष्ट होने की आशंका बनी रहती है।

यह भी पढ़ें : पैसों की तंगी से चाहिए छुटकारा तो बाथरूम में रखें इस रंग की बाल्टी

बाथरूम में एक बड़ी खिड़की और एग्जॉस्ट फैन के लिए अलग से रोशनदान होना चाहिए। बाथरूम में तेल, साबुन, शैम्पू, ब्रश आदि रखने के लिए आलमारी बाथरूम की दक्षिण या पश्चिम दिशा में बनवानी चाहिए।

बाथरूम में गहरे रंग की टाइल्स लगाने से बचें। हमेशा हल्के रंग की टाइल्स का ही इस्तेमाल करें।

गीजर आदि विद्युत उपकरण अग्नि से संबंधित हैं, इसलिए इन्हें बाथरूम के आग्नेय कोण (दक्षिण-पूर्व दिशा) में लगाना चाहिए।

यह भी पढ़ें : जिन घरों में अपनाए जाते हैं ये वास्तु नियम, होते हैं बहुत लकी

नीला रंग खुशहाली और शुभता का प्रतीक माना जाता है वास्तु के अनुसार बाथरूम में नीले रंग की बाल्टी रखना शुभ माना जाता है। इस बात का भी ध्यान रखें कि बाथरूम में रखी बाल्टी हमेशा साफ पानी से भरी रहे। ऐसा करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है।

यदि बाथरूम का दरवाजा बेडरूम में खुलता हो तो उसे हमेशा बंद रखना चाहिए। बाथरूम के दरवाजे पर पर्दा लगा सकते हैं। बेडरूम और बाथरूम की ऊर्जा का परस्पर आदान-प्रदान हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता।

Vastu Tips for Bathroom
Vastu Tips for Bathroom

घर में बेवजह पानी खर्च करने से कई वास्तु दोष उत्पन्न होते हैं। इसलिए अगर कोई नल लगातार टपक रहा है तो इस पर गंभीरता से ध्यान दें और तुरंत ठीक कराएं।

पानी की टंकियों की मरम्मत के साथ नियमित रूप से इसकी साफ-सफाई करवाएं। ऐसा करने पर घर और परिवार के सदस्यों की आर्थिक परेशानियां अपने आप दूर हो जाएंगी।

इस बात का विशेष यान रखें कि बाथरूम का शीशा दरवाजे के ठीक सामने न हो। दरअसल, जब-जब बाथरूम का दरवाजा खुलता है, तब-तब घर की नकारात्मक ऊर्जा बाथरूम में प्रवेश करती है। ऐसे समय पर अगर दरवाजे के ठीक सामने शीशा होगा तो उससे टकराकर नकारात्मक ऊर्जा पुन: घर में आ जाएगी।

यह भी पढ़ें : इन जगहों पर फिटकरी रखने से नही होगी पैसो की कमी

यह भी ध्यान रखें कि बाथरूम और कमरे के फर्श के बीच में कुछ दूरी अवश्य हो। बाथरूम और कमरे के फर्श के बीच दूरी बनाने के लिए थोड़ी ऊंची दहलीज बनाई जा सकती है। जब बाथरूम का दरवाजा बंद रहेगा, तब दहलीज के कारण दरवाजे के नीचे से भी नकारात्मक ऊर्जा कमरे में प्रवेश नहीं कर पाएगी।

वहीं उत्तर या पूर्व दिशा को बाथरूम बनाने के लिए सबसे अच्छा स्थान माना जाता है। वैसे जरूरत पड़ने पर बाकी दिशाओं में भी बनाए जा सकते हैं, लेकिन नल और शावर उत्तर या पूर्व दिशा में ही लगाएं। इस बात का भी ध्यान रखें कि बाथरूम में पानी का बहाव उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए।

Vastu Tips for Bathroom
Vastu Tips for Bathroom

अगर आप अपने बाथरूम में एक कटोरी में साबूत नमक रखेंगे तो आपके घर के कई वास्तु दोष दूर हो जाएंगे। कटोरी में रखा नमक महीने में एक बार बदल लेना चाहिए। यह आपके घर की नकारात्मक ऊर्जा को ग्रहण कर लेता है और वातावरण को सकारात्मक बनाता है।

दो-तीन दिन में कम से कम एक बार पूरा बाथरूम अच्छी तरह साफ करना चाहिए। बाथरूम अगर एकदम साफ रहेगा तो इसका शुभ असर आपकी आर्थिक स्थिति पर भी पड़ेगा। साफ-सफाई वाले घरों में देवी-देवताओं की विशेष कृपा रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here