अपने बच्चो को खिलाते हैं पैकेट बंद चिप्स, तो हो जाएं सावधान

0
161

हेल्लो दोस्तों आज इस संस्करण में हम बाज़ार में बिकने वाले पैकेटबंद चिप्स के बारे में बताने वाले हैं वैसे तो बच्चों को पैकेट बंद चिप्स बेहद पसंद होते हैं। अक्सर घर से बाहर निकलने पर बच्चे अभिभावकों से चिप्स की मांग करते हैं और अभिभावक खुश होकर बच्चों को चिप्स खरीद कर भी दे देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये चिप्स आपके बच्चों के स्वास्थ्य पर हानिकारक असर डालते हैं। Why Chips is Dangerous for Child

पैकेट बंद चिप्स से न सिर्फ आपके बच्चे, मोटापे का शिकार हो सकते हैं बल्कि कई और बीमारियां भी उन्हें घेर सकती हैं। इसमें डाइबीटीज से लेकर कैंसर तक की बीमारी शामिल है। पैकेट बंद चिप्स खाने से हृदय से जुड़ी बीमारियां भी हो सकती हैं। विभिन्न शोधों में इन बातों की पुष्टि की गई है।

ये भी पढ़िए : अगर कोई बच्चा ऐसे बैठा दिखाई दे तो तुरंत उसके पैरों को सीधा कर दीजिए

पैकेट बंद चिप्स में फैट और कैलोरीज की मात्रा काफी ज्यादा होती है। इससे वजन बढ़ने और मोटापा की समस्या हो सकती है। 28 ग्राम आलू चिप्स एवं 15 से 20 चिप्स में 10 ग्राम फैट और 154 ग्राम कैलोरीज होती है। 2015 में हुए एक शोध में बताया गया था कि तले हुए आलू चिप्स मोटापे की प्रमुख वजह है।

अगर आपका बच्चा लगातार चिप्स खाता है तो उसमें पौषण की कमी हो सकती है। चिप्स में विटामिन और मिनरल बेहद कम मात्रा में होते हैं और शरीर को भरपूर पौषण नहीं मिलता है। चिप्स में सोडियम की मात्रा काफी ज्यादा होती है जो कि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

Why Chips is Dangerous for Child
Why Chips is Dangerous for Child

सोडियम की ज्यादा मात्रा शरीर में जाने से कई बीमारियां हो सकती हैं। इनमें उच्च रक्त चाप से लेकर स्ट्रोक और हार्ट एवं किडनी की बीमारी शामिल हैं। 28 ग्राम आलू चिप्स में 120 मिलीग्राम से लेकर 180 मिलीग्राम सोडियम होता है।

अमेरिका में 2010 में डाइट गाइडलाइन जारी हुई थी। इसमें बताया गया था कि दिनभर में कितनी तादाद में नमक लेना चाहिए। इस गाइडलाइन के मुताबिक, दिनभर में 2,300 मिलीग्राम से ज्यादा नमक बिल्कुल नहीं लेना चाहिए। अगर ऐसा किया गया तो उच्च रक्तचाप से लेकर किडनी तक की कई घातक बीमारियां हो सकती हैं।

ये भी पढ़िए : पेट में कीड़े होने के लक्षण और इलाज के आसान घरेलू नुस्खे

यह पैकेट बंद चिप्स आपके बच्चे के कोलेस्ट्रोल की मात्रा को बढ़ा सकता है। चिप्स में इतनी मात्रा में फैट होता है जो शरीर के कोलेस्ट्रोल स्तर को बिगाड़ सकता है। ज्यादातर चिप्स डीप फ्राई होते हैं जो कि खतरनाक ट्रांस फैट पैदा करते हैं।यह ट्रांस फैट बच्चों के शरीर के स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक होता है।

रहती है नमक की अधिक मात्रा :

हल्दीराम की आलू भुजिया खाते ही आप रिकमेन्डेड डायटरी अलॉवेंस (आरडीए) मानकों द्वारा तय 21 फीसदी नमक खा लेते हैं, लेकिन ग्राहक किसी भी तरीके से यह नहीं जान सकता है कि इस नमकीन और चिप्स को खाते हुए वह कितनी मात्रा में नमक खा चुका है.

सीएसई के जरिए जांचे गए 14 पैकेटबंद भोजन में 10 ने अपने उत्पादों में सोडियम के बारे में बताया है लेकिन नमक के बारे में नहीं. इससे ग्राहकों को भ्रामक सूचना मिलती है. तीन उत्पादों में न ही सोडियम और न ही नमक की मात्रा दर्शायी गई. सिर्फ एक उत्पाद में नमक अथवा सोडियम की मात्रा लिखी गई है.

ऐसे हुआ रिसर्च में खुलासा?

Why Chips is Dangerous for Child
Why Chips is Dangerous for Child

चिप्स और कैंडी खाने को स्वास्थ्य समस्याओं से जोड़ कर देखा जाता है, लेकिन वैज्ञानिकों ने एक निश्चित सीमा में इनका सेवन करने पर ऐसा कोई संबंध नहीं पाया। अमेरिका के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान में किए गए प्रयोग में 20 स्वस्थ लोगों पर एक परीक्षण किया गया। ऐसे लोगों को चार सप्ताह तक एक समय एक अल्ट्रा प्रोसेस्ड खाना और एक समय पर अनप्रोसेस्ड खाना दिया गया।

अनप्रोसेस्ड खाना भुने हुए मीट, जौ और सलाद से बना था जबकि प्रोसेस्ड फूड में हैमबर्गर, फ्रेंच फ्राइज, मैकरोनी और चीज शामिल था। दोनों कैलोरी, शुगर और फैट में समान थे। इन लोगों को दिन में तीन मील खाने की अनुमति थी और इसमें वे जितना खाना चाहें, उतना ज्यादा खा सकते थे।

रिसर्चर्स ने पाया कि अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड का भोजन करने वाले लोगों ने दूसरे लोगों की तुलना में 500 कैलोरी ज्यादा खाना खाया। साथ ही दो सप्ताह के समय में ही एक किलो वजन बढ़ा लिया। अनप्रोसेस्ड खाना खाने वाले लोगों का लगभग एक किलो वजन कम हुआ।

ये भी पढ़िए : अगर आपके बच्चे को भी है नाखून चबाने की आदत तो अपनाइए ये आसान उपाय

चिप्स के अत्यधिक सेवन से आप मोटापे और डायबिटीज जैसी कई गंभीर बीमारियों के शिकार हो सकते हैं. यहां तक कि कई शोधों में यहां तक कहा गया है कि पैकेट बंद चिप्स दिल की बीमारियों को भी न्योता देते हैं. अगर आप आए दिन घर पर चिप्स और कोल्ड ड्रिंक की पार्टी करते हैं तो सावधान हो जाइए, क्योंकि ऐसा करके आप बैठे बिठाए कई बीमारियों को न्योता दे रहे हैं. चलिए जानते हैं चिप्स खाने से सेहत पर किस तरह के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं.

चिप्स खाने के नुकसान :

  • चिप्स में कई ऐसी चीजें होती हैं जो स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाती हैं, जिनमें सोडियम प्रमुख है.
  • चिप्स में नमक की अत्यधिक मात्रा होती है, जिससे आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है.
  • इसके नियमित सेवन से डायबिटीज और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है.
  • चिप्स में विटामिन और मिनरल्स नहीं होते हैं, जिसके चलते हर तरह से यह सेहत को नुकसान ही पहुंचाता है.
  • अत्यधिक मात्रा में चिप्स खाने से कैंसर और किडनी तक की कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं.
  • चिप्स में अधिक मात्रा में फैट होता है, ऐसे में ज्यादा चिप्स खाने से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है.
  • लगातार चिप्स खाने की आदत के चलते आपके शरीर में पोषण और पोषक तत्वों की कमी हो सकती है.
  • चिप्स डीप फ्राई होते हैं जो कि खतरनाक ट्रांस फैट पैदा करते हैं. इससे दांतों में सड़न की समस्या हो सकती है.
Why Chips is Dangerous for Child
Why Chips is Dangerous for Child

गौरतलब है कि चिप्स भले ही स्वाद में लाजवाब लगता है, लेकिन इसमें ट्रांस फैट और सोडियम की मात्रा अधिक होती है. ऐसे में अगर आप इन गंभीर बीमारियों से बचना चाहते हैं तो बेहतर यही होगा कि आप अत्यधिक चिप्स खाने से परहेज करें.

पैकेट में होती है नाइट्रोजन गैस :

क्या आप जानते हैं चिप्स के पैकेट में कौन सी हवा भरी होती है नही ना चलिए हम बताते हैं इसमें नाइट्रोजन गैस होती है जो चिप्स को लंबे वक्त तक फ्रेश और करारे बनाए रखने का काम करती है। अगर पैकेट में नाइट्रोजन नहीं होगी ना, तो चिप्स सील जाएंगे और जल्दी खराब हो जाएंगे। फिर चिप्स का वो मजा नहीं आएगा, जिसके लिए आप उसे खरीदते हैं।

ये भी पढ़िए : क्रिस्पी और क्रंची आलू पापड़ बनाने की विधि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here