आख़िर बाएं हाथ में ही क्यों पहनते हैं घड़ी?

क्या आपने कभी सोचा कि क्यों बाएं हाथ में ही घड़ी पहनी जाती हैं? इसका जवाब बहुत ही रोचक है।

बाएं हाथ में घड़ी पहनने से भी पहले आपको उस दौर में चलना होगा जब घड़ियां हाथ में नहीं पॉकेट में हुआ करती थीं। आपने भी पुराने जमाने की चेन वाली घड़ियां देखी होंगी जिन्हें जेब में रखा जाता था। जेब से निकालकर समय देखा जाता था।

pic : www.reference.com

इतिहास की बात:
दरअसल पहले वक्त में घड़ी में पट्टा नहीं हुआ करता था. पहले चेन वाली घड़ी होती थीं जिसे लोग जेब में रखा करते थे. ये घड़ी Boer War यानि दक्षिण अफ्रीका के किसानों की लड़ाई के वक्त ज़्यादा लोकप्रिय हुई थी. अधिकारी अपनी कलाई में चेन लगा लेदर का पट्टा बांध कर घड़ी जेब में रखते थे. कुछ समय बाद घड़ी का बड़ा आकार और जल्दी टूटने वाला नाज़ुक कांच अधिकारियों के लिए सिरदर्द बन गया. इसे सुरक्षित रखने के लिए लोग इसे अपने बाएं हाथ में पहनने लगे क्योंकि उससे वो कम काम करते थे, जिससे घड़ी को टूटने से बचाया जा सकता था.

विज्ञान की बात:
दुनिया में ज़्यादातर लोग सीधे हाथ से काम करते हैं. जब पट्टे वाली घड़ी लोग पहनने लगे, तो उन्हें उल्टे हाथ में पहन कर काम करना ज़्यादा आसान लगने लगा. इससे वो काम करते वक्त उल्टे हाथ से समय देख सकते हैं और सीधे हाथ से काम भी कर सकते हैं. कुछ लोग डिजिटल घड़ी भी पहनते हैं, ऐसे में घड़ी में कुछ सेटिंग उल्टे हाथ के मुकाबले सीधे हाथ से ज़्यादा आसान है.
जब आपका दायां हाथ काम में व्यस्त है, बाएं हाथ में इसी दौरान समय देखना बेहद आसान होता है और काम भी दाएं हाथ से चलता रहता है। बाएं हाथ में घड़ी बांधना इतना कॉमन है कि घड़ियां भी इसी हिसाब से बनाई जाने लगीं। दाएं हाथ से अन्य काम करने के चलते आपकी घड़ी भी सुरक्षित रहती है। इसके गंदे होने, स्क्रेच लगने और काम की जगह जैसे टेबल पर टकराने की संभावना भी कम होती है।
लोग घड़ी उस हाथ में पहनते हैं जिससे वो कम काम करते हैं, Right Handed लोग उल्टे हाथ में और Left Handed लोग सीधे हाथ में पहनना पसंद करते हैं.

Share

Recent Posts